पटना। राष्ट्रीय जनता दल ( राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाईटेड (जदयू) के साथ किसी भी तरह के गठबंधन से इनकार करते हुए आज कहा कि फिलहाल ऐसी कोई संभावना नहीं है। यादव ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), नई दिल्ली से डिस्चार्ज होने के बाद संवाददाताओं से बातचीत के दौरान हाल ही में पटना में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के 10 सर्कुलर रोड आवास पर विपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव के दावत-ए- इफ्तार में कुमार के शामिल होने के बाद राजद और मुख्यमंत्री के करीब आने की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर कहा राजद का जदयू के साथ कोई गठबंधन करने की फिलहाल कोई संभावना नहीं है।

ये भी पढ़ेंः फेसबुक और इंस्‍टाग्राम ने नई भर्तियों पर लगाई रोक, खर्च में कटौती के लिए रणनीति में बड़ा बदलाव

उन्होंने कहा कि कुमार और तेजस्वी दोनों इफ्तार के दौरान मिले थे और इस संबंध में कोई भी टिप्पणी की जा सकती है। हालांकि बाद में उन्होंने ऐसी किसी भी संभावना को खारिज कर दिया। राजद अध्यक्ष ने एक सवाल के जवाब में कहा कि चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को देश भर में किसी भी पार्टी ने उचित महत्व नहीं दिया। अंत में वह बिहार पहुंचे, जहां वे राजनीतिक रूप से कुछ नहीं कर सके। श्री किशोर ने कांग्रेस में शामिल होने को लेकर जारी वार्ता के विफल होने के बाद अपनी पार्टी शुरू करने का संकेत दिया है। 

ये भी पढ़ेंः 400 किलोमीटर की जबरदस्त रेंज के साथ 11 मई को लॉन्च होगी नई टाटा नेक्सॉन ईवी, पहले से ज्यादा पावरफुल

यादव ने लाउडस्पीकर के इस्तेमाल और हनुमान चालीसा के जाप पर बढ़ते विवाद पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि यह देश को विघटित करने के लिए निहित स्वार्थों की एक भयावह साजिश थी। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि यदि किसी को हनुमान चालीसा का जाप करना है, तो वह मंदिरों में करे, मस्जिद के पास क्यों। राजद अध्यक्ष ने संकेत दिया कि वह एक सप्ताह बाद पटना आ सकते हैं। उन्होंने बताया कि एम्स के चिकित्सकों ने दो सप्ताह बाद उन्हें मेडिकल चेकअप के लिए बुलाया है। फिलहाल वह ठीक महसूस कर रहे हैं।