बिहार में आज उदयमान सूर्य को अर्घ्य अर्पित करने के साथ ही सूर्योपासना का महापर्व छठ समाप्त हो गया। राजधानी पटना में आज गंगा नदी के अलावा राज्य के अन्य हिस्सों में लाखों महिला और पुरूष व्रतधारियों ने उगते हुए सूर्य को नदियों और तालाबों में खड़े होकर अर्घ्य अर्पित किया । बिहार के राज्यपाल फागू चौहान, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) विधानमंडल दल की नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव, राज्यसभा सांसद मीसा भारती समेत कई मंत्रियों एवं नेताओं ने लोगों को छठ की शुभकामनाएं दी हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री कुमार ने यहां एक अणे मार्ग स्थित अपने आवास पर लोक आस्था का महापर्व छठ के अंतिम दिन सादगी एवं श्रद्धा के साथ उदयमान भगवान भाष्कर को अर्घ्य अर्पित किया तथा ईश्वर से राज्य एवं देशवासियों की सुख, शांति एवं समृद्धि के लिये प्रार्थना की।

सूर्य मंदिर में भक्तों का तांता

औरंगाबाद जिले के देव में स्थित त्रेतायुगीन सूर्य मंदिर में भी लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं ने पूजा अर्चना की और व्रतधारियों ने सूर्य कुण्ड में अर्घ्य अर्पित किया। इस अवसर पर अत्यन्त आकर्षक ढंग से सजाये गये देव के त्रेतायुगीन सूर्य मंदिर में आज सुबह से ही भगवान भाष्कर के दर्शन के लिए व्रतधारियों तथा श्रद्धालुओं की लंबी कतार लगी हुई थी। इस दौरान देश के विभिन्न प्रांतों से आये लाखों श्रद्धालुओं और व्रतधारियों द्बारा गाये जा रहे कर्णप्रिय छठी मईया के गीतों से पूरा वातावरण गुंजायमान हो गया। लोक मान्यता है कि देव में पवित्र सूर्य कुण्ड में स्नान कर भगवान भाष्कर को अर्घ्य अर्पित करने और त्रेतायुगीन सूर्य मंदिर में भगवान के दर्शन करने से मनोवांछित कामनाओं की पूर्ति होती है। दूसरा अर्घ्य अर्पित करने के बाद श्रद्धालुओं का 36 घंटे का निराहार व्रत समाप्त हुआ और उसके बाद हीं व्रतधारियों ने अन्न ग्रहण किया । चार दिवसीय इस महापर्व के तीसरे दिन कल व्रतधारियों ने नदियों और तालाबों में अस्ताचलगामी सूर्य को प्रथम अर्घ्य अर्पित किया था ।

मुख्यमंत्री ने दी शुभकामनाएं

वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोक आस्था के महापर्व छठ के अवसर पर अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य अर्पित करने के बाद राजधानी पटना के घाटों का भ्रमण किया। कुमार ने यहां 01 अणे मार्ग स्थित आवास में अपने परिवार के सदस्यों के साथ भगवान भास्कर को अर्घ्य  अर्पित किया तथा राज्यवासियों की सुख, शांति एवं समृद्धि के लिये ईश्वर से प्रार्थना की। इस अवसर पर राज्यपाल फागू चैहान एवं मुख्यमंत्री श्री कुमार ने दानापुर के नासरीगंज घाट से कंगन घाट तक स्टीमर द्वारा गंगा नदी के विभिन्न छठ घाटों का भ्रमण किया और छठव्रतियों एवं राज्यवासियों को छठ की शुभकामनायें दीं। मुख्यमंत्री ने छठ घाटों के भ्रमण करने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुये कहा, लोक आस्था के इस महापर्व पर अस्ताचलगामी सूर्य की पूजा की जा रही है। यह महापर्व एक प्रकार से अनंत पूजा है। जितने लोगों ने छठ पूजा किया है, सभी लोगों को मैं शुभकामनायें देता हूं। कुमार के भ्रमण के क्रम में केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर, विधान पार्षद ललन सर्राफ, बिहार चेम्बर ऑफ कॉमर्स के पूर्व अध्यक्ष ओ. पी. साह, पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पाण्डेय, अपर मुख्य सचिव गृह आमिर सुबहानी, अपर मुख्य सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा, प्रधान सचिव वित्त एस. सिद्धार्थ, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव नगर विकास आनंद किशोर समेत अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे।