उत्तरप्रदेश के गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे और लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा ने लखीमपुर की निचली अदालत में सरेंडर किया है। लखीमपुर पुलिस ने सरेंडर करने के बाद आशीष मिश्रा को जेल भेज दिया है। आशीष मिश्रा मोनू को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जमानत दे दी थी। आशीष मिश्रा को मिली जमानत के बाद मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया था।

यह भी पढ़ें : अरुणाचल प्रदेश के अंकल मूसा को मिलेगा 25वां महावीर पुरस्कार

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के बेटे और लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा को मिली जमानत को रद्द कर दिया था। जानकारी के मुताबिक आशीष मिश्रा रविवार को छुट्टी के दिन ही सरेंडर कर दिया। बताया जाता है कि आशीष मिश्रा ने सीजेएम की कोर्ट में पहुंचकर सरेंडर कर दिया।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने आशीष मिश्रा को इलाहाबाद हाईकोर्ट से मिली जमानत रद्द करते हुए तल्ख टिप्पणियां की थी। सुप्रीम कोर्ट ने आशीष की जमानत रद्द करते हुए उसे सात दिन के अंदर सरेंडर करने के लिए कहा था। सुप्रीम कोर्ट की ओर से आशीष मिश्रा को सरेंडर करने के लिए दिए गए सात दिन की समय-सीमा कल यानी 25 अप्रैल को पूरी हो रही थी।

यह भी पढ़ें : गर्मियों में है सिक्किम में सुकून, दोस्तों के साथ प्लान कर सकते हैं ट्रिप

25 अप्रैल को सोमवार का दिन है। हफ्ते के पहले दिन कोर्ट में काफी भीड़भाड़ होती है। ऐसे में माना जा रहा है कि भीड़ से बचने के लिए ही आशीष मिश्रा ने छुट्टी के दिन रविवार को ही लखीमपुर की निचली अदालत में सरेंडर कर दिया। बता दें कि आशीष किसानों के आंदोलन के दौरान लखीमपुर में हुई हिंसा के मामले में मुख्य आरोपी है।