हाल ही में एक महिला टीचर अपने ही 11वीं के छात्र को लेकर फरार हो गई। यह मामला हरियाणा के पानीपत का है। यहां एक महिला टीचर घर पर अकेली रहती थी। उसके यहां एक नाबालिग ट्यूशन पढ़ने के लिए आता था। इसी दौरान महिला का दिल अपने शिष्य पर ही आ गया और फिर वो हुआ जिसकी किसी ने उम्मीद नहीं कर रखी थी।

महिला अपने नाबालिग शिष्य को लेकर फरार हो गई। शिष्य के लापता होने पर उसके माता-पिता ने महिला टीचर पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया। इसके बाद पुलिस की टीम सक्रिय हो गई। पुलिस ने दोनों की तलाश शुरू कर दी जल्द ही महिला टीचर को पकड़ा गया।

पानीपत पुलिस ने साइबर सेल की मदद से महिला टीचर को नाबालिग लड़के के साथ पकड़ लिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है, साथ ही महिला टीचर की काउंसलिंग भी कराई जाएगी। बताया गया है कि इस महिला टीचर से पूछा जाएगा आखिर अपहरण के पीछे का मकसद क्या था।

बताया जा रहा है कि महिला छात्र की क्लास टीचर भी है और एक निजी स्कूल में पढ़ाती है। यह मामला तब सामने आया था जब छात्र के परिजनों ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि उनका बेटा हमेशा की तरह 29 मई की दोपहर करीब 2 बजे टीचर के घर गया था, लेकिन वो वापस घर नहीं लौटकर आया।
       

पानीपत की देशराज कॉलोनी के एक निजी स्कूल में पढ़ाने वाली ये टीचर तलाकशुदा है और अपने मायके में ही रह रही थी। छात्र के पिता ने जिला पुलिस थाने में दी गई रिपोर्ट में बताया था कि उसका बेटा हर रोज की तरह ट्यूशन पढ़ने गया था लेकिन लौट कर नहीं आया।

नाबालिग छात्र पिछले दो सालों से टीचर के घर पर ट्यूशन पढ़ने जाता था। लॉकडाउन में स्कूल बंद होने पर छात्र हर दिन चार-चार घंटे ट्यूशन लेने टीचर के घर जाता रहा। दिलचस्प बात ये है कि दोनों घर से कोई भी सामान लेकर नहीं गए। कीमती सामान में टीचर के हाथ में सिर्फ एक सोने की अंगूठी है।

जब दोनों गायब हुए थे तब दोनों के मोबाइल फोन भी बंद थे, छात्र के घर वालों को बेटे की चिंता हुई तो उन्होंने महिला टीचर के परिवार के सदस्यों से संपर्क किया, पहले तो कई घंटे तक टीचर के परिजनों ने कोई जानकारी नहीं दी, पर बाद में महिला टीचर के पिता ने बताया कि उनकी बेटी गायब हो गई है।

इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी। फिलहाल दोनों को पुलिस ने पकड़ लिया है। पुलिस दोनों ने पूछताछ करने में जुट गई है। पुलिस ने बताया है कि मामले में संबंधित लोगों से भी पूछताछ की जाएगी।