भगौड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को वापस भारत लाने लिए 8 सदस्यों की एक टीम डोमिनिका गई है। बैकिंग फ्रॉड मामलों में सीबीआई चीफ शारदा राउत इस टीम की अहम सदस्य हैं। इन्होंने ही पीएनबी धोखाधड़ी मामले की जांच की अगुवाई की थी। चोकसी 2018 से ही एंटीगा में रह रहा था और उसे फिलहाल डोमनिका में अरेस्ट किया गया है।
डोमनिका पहुंची 8 सदस्यीय टीम में सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय और सीआरपीएफ के दो- दो सदस्य शामिल हैं। बैकिंग फ्रॉड मामलों में सीबीआई चीफ शारदा राउत इस टीम की अहम सदस्य हैं। इन्होंने ही पीएनबी धोखाधड़ी मामले की जांच की अगुवाई की थी। महिला आईपीएस अधिकारी शारदा राउत का जन्म महाराष्ट्र के नासिक जिले में हुआ। वह 2005 बैच की आईपीएस अधिकारी हैं। उनके काम करने का एक अलग ही स्टाइल है।
पालघर में एसपी रहते हुए उन्होंने क्राइम पर काफी हद तक कंट्रोल कर लिया था। नागपुर, मीरा रोड, नंदुबार, कोल्हापुर, मुंबई कई जगहों पर इनकी पोस्टिंग रही। अपने काम के प्रति उनकी जो ईमानदारी है उसकी तारीफ उनके महकमे में भी होती है।

एक रिपोर्ट के अनुसार यह टीम 28 मई को ही वहां पहुंच गई है और कल सुनवाई के दौरान सरकारी वकील की मदद भी करेगी। ED की टीम कल कोर्ट में एफिडेविट दाखिल करेगी जिसके जरिए यह बताया जाएगा कि वह भारतीय नागरिक है। रिपोर्ट तैयार है इसे आज सरकार की मंजूरी के बाद कल इसे पेश किया जाएगा।

खबर है कि यह टीम प्राइवेट जेट के जरिए कतर से डोमनिका के लिए उड़ान भरी थी। अब यही टीम पीएनबी धोखाधड़ी के आरोपी मेहुल चोकसी को इसी जेट से भारत ला सकती है। बताया जा रहा है कि दिल्ली एयरपोर्ट पर आने के बाद औपचारिक तौर पर मेहुल को गिरफ्तार किया जाएगा।