उत्तर प्रदेश में कुशीनगर स्थित हवाई अड्डे को अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का दर्जा देने का फैसला किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की यहां बुधवार को हुई बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की गई।


बैठक के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि कुशीनगर बौद्ध सर्किट का प्रमुख केंद्र है और यह बौद्ध सर्किट के लगभग केंद्र में है। इसके आसपास श्रावस्ती, कपिलवस्तु और लुम्बिनी जैसे बौद्ध स्थल हैं। इसलिए देशी और विदेशी पर्यटकों, विशेषकर बौद्ध पर्यटकों को यह हवाई अड्डा इस सर्किट तक आसान पहुंच उपलब्ध करायेगा।


जावड़ेकर ने बताया कि कुशीनगर हवाई अड्डे पर तीन किलोमीटर की हवाई पट्टी है जिस पर बड़े विमान भी उतर सकते हैं। काफी हद तक बुनियादी ढांचा उपलब्ध है। उनमें कुछ सुधार करना होगा, जो जल्द पूरा किया जायेगा। उन्होंने कहा कि थाईलैंड, मलेशिया, वियतनाम, ङ्क्षसगापुर और श्रीलंका से काफी संख्या में पर्यटक बौद्ध स्थलों के दर्शन के लिए आते हैं।