मेघालय के प्रभावशाली छात्र संगठन खासी छात्र संघ (केएसयू) ने राज्य में यूरेनियम खनन पर सरकार के खिलाफ अपने दृढ़ रवैए को फिर से दोहराया है। केएसयु के केंद्रीय निकाय अध्यक्ष लैम्बोकस्टारवेल मार्नगर ने यहां आयोजित विकिल्प सीईम की 30 वीं जयंती के मौके पर कहा कि हालांकि केंद्र सरकार ने सीईएम को प्रवेश के साधन पर हस्ताक्षर करने के लिए मजबूर किया था।

 उन्होंने कहा कि केएसयु को यूरेनियम मुद्दे के साथ एेसा करने के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता। मार्नगर ने कहा कि वे न तो यूरेनियम खनन से संबंधित विकास के मुद्दे से  पीछे हटेंगे और न ही बदलेंगे, भले ही केंद्र इस मुद्दे को छोड़ने के लिए संघ को मजबूर करने की कोशिश कर चुकी हो।

नई दिल्ली द्वारा उन्हें एक भारत विरोधी नेता के रुप में प्रस्तुत किए जाने को लेकर केएसयू अध्यक्ष ने कहा कि जो भी हो लेकिन संघ और खासी, समुदाय उन्हें नायक के रुप में याद करेंगे। इस मौके पर मार्नगर के केएसयू सदस्यों से सीईएम के पद का अनुसरण करने का भी आग्रह किया, क्योंकि एेसे नेता अपने समुदाय से मिले प्यार से प्रेरित थे। उन्होंने आशा जताई कि केएसयू की पश्चिम खासी हिल्स जिला इकाई उनके जैसे और निष्ठावान नेता पैदा करेगी ।