गत दिनों केएसयू के महासचिव डोनाल्ड थाबाह की कार पर हमला हुआ था। इस हमले ने राजानीति खेमें में आरोप-प्रत्यारोप छेड़ दी है। डोनाल्ड थाबाह की कार पर हुए हमले पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पीपुल्स (यूडीपी) ने कहा कि इस घटना को पार्टी अथवा राजानीति से नहीं जोड़ा जा सकता है।

जानकारी हो कि थाबाह की कार पर गत दिनों करीब 1:30 बजे हुए हमले की घटना के लिए केेएसयू ने यूडीपी कार्यकर्ताओं को दोषी ठहराया जा रहा है। इस संबंध में जाइवा सीट के यूडीपी एमडीसी उम्मीदवार पाल लिंग्दोह ने मीडिया से बात की।

पाल ने कहा कि इस हरकत के पीछे किसी असामाजिक तत्व का भी हाथ हो सकता है। इसलिए कार पर हमले की घटना को राजनीति से जोड़ना उचित नहीं है। उन्होंने कांग्रेस पार्टी द्वारा थाबाह की कार पर हुए हमले की घटना के लिए यूडीपी को जिम्मेदार ठहराने के अभियान की निंदा की।

इधर जाइवा एमडीसी चुनाव क्षेत्र के यूडीपी अध्यक्ष माइकल वार ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वे आगामी चुनाव को मद्देनजर रखते हुए शांति बनाए रखें साथ ही इस तरह के आरोप-प्रत्यारोप पर ध्यान न देने की बजाए चुनाव पर ध्यान केंद्रीत करें।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यूडीपी देश के दो प्रमुख पार्टी कांग्रेस और भाजपा से समान दूर बनाए रखने की विचारधारा पर कायम है। इतना ही नहीं यूडीपी खासी तथा जयंतिया पर्वतीय स्वायत्तशासी जिला परिषदों में कार्यकारिणी समिति का भी गठन करने जा रही है।

इस बारे में जब यूडीपी के कार्यकारी अध्यक्ष पाल लिंग्दोह से बातचीत के दौरान पूछा गया कि क्या यूडीपी एंव एनपीपी के बीच आपसी सहमती कायम है ? तो पाल ने कहा कि हम अपने बूते पर कार्यकारिणी समिति का गठन करेंगे। इस गठन के लिए हमें किसी की सहमती की जरूरत नहीं है।