कोरोना संक्रमण देश में तेजी से फैलता ही जा रहा है। दएश के कई राज्यों के इलाकों में लॉकडाउन लागू कर दिया है। इसी तरह के यूपी में एक बहुत ही खतरनाक तस्वीर देखने को मिली है। जिसने देश को सन्न कर दिया है। कोरोना की लहर के बीच शवों के अंतिम संस्कार के लिए शमशान में परिजनों को घंटों इन्तजार करना पड़ रहा है। राजधानी लखनऊ के भैंसाकुंड स्थित विद्युत शव गृह के बाहर गाड़ियों की लंबी कतारें लगी हैं।


लंबी कतारों के कारण टोकन सिस्टम भी लागू किया गया हैं फिर भी मृतकों के परिजनों को आठ से दस घंटे का इन्तजार करना पड़ रहा है। परिजनों सुबह के बाद भी 10 बजे टोकन मिलने के बाद भी घंटों तक इन्तजार करना पड़ रहा है। भैंसाकुंड स्थित विद्युत शव गृह में ही कोरोना संक्रमण से हुई मौतों का अंतिम संस्कार किया जाता है। यहां पर दो यूनिट है जहां, शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है।


मैन पावर की कमी और अव्यवस्थाओं की वजह से अंतिम संस्कार के लिए पहुंच रहे लोगों को घंटों तक इंतजार करना पड़ रहा है। हैरानी की बात यह है कि आधा किमी की लंबी कतारें शवों को लेकर भैंसाकुंड में लगी हुई है। भैंसाकुंड स्थित बैकुंठ धाम से निशातगंज पल तक गाड़ियों की लाइन लगी है. अपने परिजन का अंतिम संस्कार करने पहुंचे एक शख्स ने बताया कि वे सुबह 6 बजे पहुंचे थे। 10 बजे कर्मचारी ने उन्हें 7 नंबर का टोकन दिया लेकन 2 बजे तक उनका नंबर नहीं आया है।