- सोशल मीडिया पर सक्रिय और खुद को अभिव्यक्त करने वाली माताओं की मासूमियत और मजेदार पलों को कैद करता एक वीडियो किया लॉन्च 

- यूजर्स अपनी माताओं के सोशल मीडिया पर मौजूद मज़ेदार लेकिन मासूम पलों को शेयर करें, जिनमें उन्हें कहना पड़ा- 'मम्मी, यार', इसके लिए एक रोमांचक प्रतियोगिता की घोषणा की

यह भी पढ़े : राशि परिवर्तन : बदलने जा रही है सूर्य, मंगल और शुक्र की चाल, जानिए आप की राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा


दुनिया भर की माताओं के निस्वार्थ प्रेम, ममता और त्याग को सलाम करते हुए कू ऐप ने इस मदर्स डे पर #MummyYaar नामक एक नया अभियान लॉन्च किया है। यह यूजर्स को #मम्मीयार हैशटैग के जरिये अपनी मां का आभार व्यक्त करने के लिए प्रेरित करता है। यह अभियान माताओं के समर्पण और संकल्प को दर्शाता है क्योंकि वे उत्साहपूर्वक लगातार विकसित हो रहे सोशल मीडिया को अपनाती हैं, अपनी पसंद की भाषा में खुद को अभिव्यक्त करती हैं और इस डिजिटल युग में अपने जैसी सोच वाले यूजर्स के साथ जुड़ती हैं। यह माताओं को उस जबर्दस्त ताकत के रूप में प्रदर्शित करता है जो अपने बच्चों और उनके आसपास के लोगों के जीवन को बेहतर बनाने के साथ-साथ अकल्पनीय चीजों को हासिल करने की कोशिश करती हैं।

यह भी पढ़े : शराब के शौकीनों के लिए दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, अब सुबह तीन बजे तक मिलेगी शराब


पुरानी यादों से भरे वीडियो के अलावा इस मौके पर कू ऐप ने एक आकर्षक प्रतियोगिता की भी घोषणा की है, जिसमें यूजर्स को अपनी मां के ऐसे सोशल मीडिया पलों के बारे में जानकारी शेयर करने के लिए आमंत्रित किया गया है, जिसमें उन्हें "मम्मी, यार" कहना पड़ गया था। यूजर्स पहले से ही मीम्स, वीडियो और पोस्ट के माध्यम से अपने #MummyYaar पलों को बेहद रचनात्मक रूप से कू कर रहे हैं। मशहूर हस्तियों और प्रभावशाली लोगों ने भी अपने #MummyYaar पलों का प्रदर्शन करके इस अनूठे अभियान में उत्साहपूर्वक भाग लिया है और कू ऐप पर यूजर्स इसका भरपूर आनंद ले रहे हैं। 9 मई 2022 तक चलने वाली इस प्रतियोगिता के विजेताओं को बेहतरीन उपहारों से पुरस्कृत किया जाएगा।

कू के प्रवक्ता ने कहा, "मदर्स डे हमारी प्यारी माताओं के प्रति अपने अपार प्रेम और कृतज्ञता को व्यक्त करने से संबंधित है। हमें लगता है कि कभी भी सोशल मीडिया माताओं के प्रति ज्यादा बेहतर नहीं रहा है और कू जैसा एक सुरक्षित और यूजर-फर्स्ट मंच उन्हें अपनी पसंद की भाषा और दिलचस्प विषय पर अपनी राय और विचारों को स्वतंत्र रूप से व्यक्त करने में सक्षम बनाता है। हमने #MummyYaar अभियान के माध्यम से मातृत्व की भावना को सलाम करने के बारे में सोचा- जो लाखों माताओं की मासूमियत, प्रेम, त्याग और गर्मजोशी का जश्न मनाता है। इस अभियान के माध्यम से, हम उन सभी माताओं को दिल से 'धन्यवाद' देते हैं जो लगातार नई चीजें सीख रही हैं, सक्रिय रूप से सोशल मीडिया को अपना रही हैं, नए मुद्दों का समर्थन कर रही हैं और अपने आसपास के लोगों को सार्वजनिक बेहतरी के लिए तकनीक का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित कर रही हैं। सभी माताओं और होने वाली माताओं को हैप्पी मदर्स डे।”

कू के बारे में

Koo App की लॉन्चिंग मार्च 2020 में भारतीय भाषाओं के एक बहुभाषी, माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म के रूप में की गई थी, ताकि भारतीयों को अपनी मातृभाषा में अभिव्यक्ति करने में सक्षम किया जा सके। कू ऐप ने भाषा-आधारित माइक्रो-ब्लॉगिंग में नया बदलाव किया है। Koo App फिलहाल हिंदी, मराठी, गुजराती, पंजाबी, कन्नड़, तमिल, तेलुगू, असमिया, बंगाली और अंग्रेजी समेत 10 भाषाओं में उपलब्ध है। Koo App भारतीयों को अपनी पसंद की भाषा में विचारों को साझा करने और स्वतंत्र रूप से अभिव्यक्ति के लिए सशक्त बनाकर उनकी आवाज को लोकतांत्रिक बनाता है। 

यह भी पढ़े : DC vs CSK: दिल्ली कैपिटल्स पर बड़ी जीत के बाद MS Dhoni ने कह दी इतनी बड़ी बात, प्लेऑफ में पहुंच सकती है CSK?


मंच की एक अद्भुत विशेषता अनुवाद की है जो मूल टेक्स्ट से जुड़े संदर्भ और भाव को बनाए रखते हुए यूजर्स को रीयल टाइम में कई भाषाओं में अनुवाद कर अपना संदेश भेजने में सक्षम बनाती है, जो यूजर्स की पहुंच को बढ़ाता है और प्लेटफ़ॉर्म पर सक्रियता तेज़ करता है। प्लेटफॉर्म 3 करोड़ डाउनलोड का मील का पत्थर छू चुका है और राजनीति, खेल, मीडिया, मनोरंजन, आध्यात्मिकता, कला और संस्कृति के 7,000 से ज्यादा प्रतिष्ठित व्यक्ति अपनी मूल भाषा में दर्शकों से जुड़ने के लिए सक्रिय रूप से मंच का लाभ उठाते हैं।