मुंबई। आईपीएल के कमेंट्री पैनल में वापसी करने वाले भारत के पूर्व कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) को उम्मीद हैं कि विराट कोहली इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगामी सीजान में अधिक स्वतंत्रता के साथ बल्लेबाजी करेंगे। वह इसलिए क्योंकि उनपर अब कप्तानी का दबाव नहीं होगा। सितंबर 2021 में भारतीय टी20 अंतर्राष्ट्रीय टीम की कप्तानी त्यागने के बाद से, कोहली ने या तो सभी प्रारूपों से कप्तानी को त्याग दिया है या फिर उन्हें कप्तानी से निकाला गया है। 

यह भी पढ़ें- द कश्मीर फाइल्स फिल्म को लेकर भाजपा पर भड़के अरविंद केजरीवाल, कह दी ऐसी बड़ी बात

टी20 विश्व कप 2021 में मिली निराशा के साथ समाप्त हुए अपना कार्यकाल से पहले, टीम के प्रमुख कोच शास्त्री ने कोहली के साथ मिलकर काफ़ी काम किया है। आईपीएल 2022 के दौरान शास्त्री ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के विशेष कार्यक्रम 'टी20 टाइमआउट' में विश्लेषक की भूमिका में नजर आएंगे। शास्त्री ने बुधवार को कहा, 'मुझे लगता है (कप्तानी छोडऩा) उनके लिए वरदान साबित हो सकता है। कप्तानी का दबाव उनके सिर से हट गया और साथ ही उसके साथ आने वाली उम्मीदें भी अब नहीं रही। वह पूरी स्वतंत्रता के साथ मैदान पर खुलकर खेल सकते हैं और मुझे लगता है कि वह ऐसा ही करना चाहेंगे।' 

उन्होंने आगे कहा, 'उनके लिए सबसे महत्वपूर्ण बात होगी अपने प्रदर्शन पर अधिक सोच-विचार ना करना। विश्व क्रिकेट में बहुत कुछ करने के कारण ही वह आज यहां खड़े हैं। अहम होगा कि वह अपने खेल का आनंद ले। मैं चाहता था कि वह (विराट कोहली) टेस्ट मैचों में कप्तानी जारी रखते लेकिन यह उनका निजी फ़ैसला है।' दबाव को ध्यान में रखते हुए शास्त्री के अनुसार कुल मिलाकर कप्तानी छोडऩा एक सही निर्णय था। हालांकि उन्हें लगता है कि कोहली को टेस्ट टीम की कप्तानी जारी रखनी चाहिए थी। भारत के दिग्गज खिलाड़ी शास्त्री ने कहा, 'किसी भी टीम के लिए तीनों प्रारूपों में कप्तानी करना कठिन है, खासकर भारत के लिए यह और भी चुनौतीपूर्ण हो जाता है। जो दबाव भारतीय टीम के कप्तान पर होता है, वह विश्व की किसी अन्य टीम के कप्तान पर नहीं होता। और यह 140 करोड़ लोगों की उम्मीदों का दबाव है। और जब आप विराट कोहली की तरह टीम को सफलता दिलाते हैं, तो लोग आपसे हर मैच में जीत हासिल करने की आशा रखते हैं। महान से महान टीमें भी खराब दौर से गुजरती हैं और दबाव बढ़ता चला जाता है। इसलिए मेरा मानना है कि उन्होंने कप्तानी छोड़कर सही निर्णय लिया है। हालांकि मैं चाहता कि वह टेस्ट मैचों में कप्तानी जारी रखते लेकिन यह उनका निजी फ़ैसला है।'

यह भी पढ़ें- आज फिर बढ़े Petrol-Diesel के दाम, जानिए आपके शहर में क्या हैं नई कीमतें

आईपीएल से पहले, शास्त्री इस बात से सहमत हैं कि कोहली रॉयल चैलेंजर्स के लिए पारी की शुरुआत कर सकते हैं। हाल के सीजनों में कोहली ने आरसीबी और भारतीय टीम के लिए इस भूमिका को निभाया है। इसके अलावा वह तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने में सक्षम हैं। शास्त्री ने कहा, 'यह टीम के संतुलन पर निर्भर करता है। मुझे नहीं पता कि उनका मध्य क्रम कैसा होगा। अगर उनके पास मजबूत मिडिल ऑर्डर है तो विराट के ओपन करने से मुझे कोई हर्ज नहीं है।'