केंद्र की मोदी सरकार ने हाल ही में छोटी बचत योजनाओं पर दरें घटाने का फैसला किया है। इस फैसले के बाद जुलाई से सितंबर महीने के बीच आपको पोस्ट ऑफिस की गारेंटेड रिटर्न वाली स्कीम्स में कम ब्याज मिलेगा। ऐसे ही एक स्कीम किसान विकास पत्र के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं। आपको बता दें कि नरेंद्र मोदी सरकार ने सितंबर तिमाही के लिए किसान विकास पत्र पर देय ब्याज को घटाकर 7.6 फीसदी कर दिया है। छोटी बचत योजना में किसान विकास पत्र (KVP) आम लोगों में काफी हिट है।इसे आप अपने पड़ोस के डाकघर में जाकर खरीद सकते हैं। इसकी शुरुआत 1000 रुपये से होती है।

वित्त मंत्रालय की ओर से जारी नोटिफिकेशन में बताया गया है कि किसान विकास पत्र में जमा रकम अब 9 साल 5 महीने यानी 113 माह में दोगुनी हो जाएगी. इससे पहले यह 9 साल 4 महीने यानी 112 माह में दोगुनी होती थी। दरअसल सरकार ने सितंबर तिमाही के लिए किसान विकास पत्र पर देय ब्याज को घटाकर 7.6 फीसदी कर दिया गया है। आपको बता दें कि केंद्र सरकार हर तीन महीने के लिए ब्याज दरें तय करती है।

बता दें कि किसान विकास पत्र यह एक तरह का प्रमाण पत्र होता है, जिसे आप पोस्ट ऑफिस से खरीद सकते है। इसे बॉन्‍ड की तरह प्रमाण पत्र रूप में जारी किया जाता है। इस पर सरकार की ओर से तय ब्याज मिलता है। किसान विकास पत्र में पैसा लगाने की कोई सीमा तय नहीं है, लेकिन न्‍यूनतम निवेश 1000 रुपए का होना चाहिए। मतलब साफ है कि आप 1000 रुपए के मल्टीपल में कितना भी पैसा लगा सकते हैं। आप 1500 या 2500 या 3500 का निवेश नहीं कर सकते हैं। यहां निवेश 1 हजार, 2 हजार और 3 हजार के क्रम में होगा।

पोस्ट ऑफिस की किसी भी ब्रांच से आप किसान विकास पत्र खरीद सकते हैं। आप किसी बच्‍चे यानी माइनर के लिए भी इसे खरीद सकते हैं। 2 लोगों के नाम पर भी इसे खरीदा जा सकता है। आपको  2 पासपोर्ट साइज फोटो, पहचान पत्र (राशन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट आदि..), निवास प्रमाण पत्र (बिजली बिल, टेलिफोन बिल, बैंक पासबुक आदि..), अगर आपका निवेश 50 हजार से ज्‍यादा है तो इस अवस्‍था में पैन कार्ड जरूरी होगा। अगर आप पैसा निकालना चाहते हैं तो आपको कम से कम 113 महीने का इंतजार करना होगा। हालांकि फाइनेंशियल एक्‍सपर्ट इसमें लंबे समय के निवेश की सलाह देते हैं। इस सरकारी योजना में आपके पास नॉमिनेशन की भी सुविधा मौजूद होती है। एक व्‍यक्ति से दूसरे व्‍यक्ति को यह सर्टिफिकेट ट्रांसफर किया जा सकता है। एक पोस्‍ट ऑफिस से दूसरे पोस्‍ट ऑफिस में भी इसे ट्रांसफर किया जा सकता है। इसे देश के कुछ बैंकों से भी ऑनलाइन तरीके से खरीदा जा सकता है।