त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) गठबंधन ने प्रचंड बहुमत हासिल किया है। अब 9 मार्च को बिप्लव कुमार देव यहां मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। एक टीवी चैनल से बातचीत में बिप्लव कुमार देव ने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद वो अपने विरोधियों को भी साथ लेकर चलेंगे और वो किसी एक पार्टी के नहीं बल्कि सबके मुख्यमंत्री बनेंगे।

9 मार्च शाम 5 बजे अगरतला में शपथ ग्रहण समारोह होगा। बिप्लव देब भी पहले कह चुके हैं कि वह मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी लेने को तैयार हैं, लेकिन इस बारे में फैसला भाजपा संसदीय बोर्ड को लेना है। त्रिपुरा में शुरुआती पढ़ाई के बाद बिप्लव देब दिल्ली में राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ से जुड़े और 16 साल तक संघ के कार्यकर्ता बने रहे।

उन्होंने संघ के दिग्गज नेताओं गोविंद आचार्य और कृष्णगोपाल शर्मा के संरक्षण में ट्रेनिंग भी ली। 2016 में त्रिपुरा राज्य अध्यक्ष की जिम्मेदारी मिलने के मात्र दो साल के भीतर ही बिप्लव देव ने राज्य में पिछले 25 साल से चले रहे लेफ्ट के किले को ढहा दिया।


बिप्लव कुमार देब का जन्म 25 नवंबर 1969 को त्रिपुरा में गोमती जिले के राजधर नगर गांव में एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था। उनके पिता हराधन देब जनसंघ के स्थानीय नेता थे।

बिप्लव देब ने त्रिपुरा के उदयपुर कॉलेज से 1999 में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की। इसके बाद वह आगे की पढ़ाई के लिए दिल्ली चले गए।

मीडिया रिपोर्ट के हवाले से खबर है कि शुरुआत में उन्होंने जिम इंस्ट्रक्टर का भी काम किया, लेकिन देब ने इसे खारिज कर दिया और कहा कि वह जिम सिर्फ एक्सरसाइज करने जाते थे।


दिल्ली में वह राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ से जुड़े और 16 साल तक संघ के कार्यकर्ता बने रहे। उन्होंने संघ के दिग्गज नेताओं गोविंद आचार्य और कृष्णगोपाल शर्मा के संरक्षण में ट्रेनिंग ली।

2014 में बनारस में लोकसभा चुनाव की पीएम मोदी की कैंपेनिंग को मैनेज करने का श्रेय भी बिप्लव देब के नाम जाता है। इसके बाद ही बिप्लव देब त्रिपुरा भेजे गए थे।

नॉर्थ-ईस्ट में पीएम मोदी की खासी दिलचस्पी थी। इसलिए साल 2014 में मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद बिप्लव देब को दिल्ली से त्रिपुरा भेजा गया, ताकि बीजेपी वहां अपनी पैठ जमा सके। बिप्लव देव को 2016 में सुधींद्र दासगुप्ता की जगह त्रिपुरा बीजेपी का अध्यक्ष बनाया गया।

बिप्लव देब की पत्नी नीति स्टेट बैंक ऑफ  इंडिया में अधिकारी हैं। बिप्लब देव के दो बच्चे एक बेटा और एक बेटी है।