खुन हिन्नीवट्रेप नेशनल अवेकिंग मूवमेंट (खनाम) ने आगामी लोकसभा चुनाव में अपना उम्मीदवार उतारने का फैसला किया है। पार्टी ने यह निर्णय लिया है कि असम-मेघालय के साथ लंबे समय से जारी सीमा विवाद उनका चुनाव मु्द्दा होगा।


खनाम विधायक एडेलबर्ट नोंग्रुम ने कहा कि पार्टी उन मुद्दों पर चुनाव लड़ेगी जो राज्य के लोगों से संबंधित हैं, जिनमें असम के साथ सीमा विवाद शामिल है। मेघालय का यह ज्वलंत मुद्दा बताया। अन्य पार्टियों को इसपर न ध्यान देने की बात कही। नोंग्रुम ने बताया कि दोनों राज्यों के बीच सीमा विवाद मुद्दा कई सालों से लंबित है और हर तरह से हमें इसे सुलझाना होगा।


सीमाई क्षेत्र में रह रही मेघालय की आबादी विभिन्न समस्याओं का सामना कर रही है। नोंग्रुम के मुताबिक पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी उम्मीदवार के रूप में पहले से ही सेवानिवृत्त आईएफएस अधिकारी और पार्टी के महासचिव टीएचएस बोनी के नाम को आगे करने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि लोकसभा चुनाव में पार्टी को फायदा होगा और लोगों को उनसे काफी आशा है।