इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन चाहते हैं कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) सनराइजर्स हैदराबाद के तेज गेंदबाज उमरान मलिक को तुरंत टेस्ट टीम में शामिल करे, क्योंकि अब इंतजार करने का कोई मतलब नहीं है।

ये भी पढ़ेंः अपनी शक्ति बढ़ा रहा है ये खूंखार देश, आज फिर किया इतनी शक्तिशाली मिसाइल का परीक्षण


उमरान ने 5 मई को यहां ब्रेबोर्न स्टेडियम में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ अपनी टीम के मैच के दौरान 157 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आईपीएल 2022 की सबसे तेज गेंद फेंकी। 22 वर्षीय ने 20वें ओवर की चौथी गेंद पर यह उपलब्धि हासिल की। रोवमैन पॉवेल ने उनकी गेंद पर चौका लगाया था। मलिक ने अंतत: 4-0-52-0 के आंकड़े के साथ अपना गेंदबाजी स्पेल समाप्त किया। इससे पहले, युवा क्रिकेटर ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में गुजरात टाइटंस के खिलाफ मैच में अपना पहला आईपीएल पांच विकेट हासिल किया था। मलिक ने तब 4-0-25-5 के आकड़े के साथ टीम में अपना योगदान दिया था।

ये भी पढ़ेंः पश्चिम बंगाल कोयला घोटालाः कोर्ट ने TMC नेता अभिषेक बनर्जी को पत्नी को लेकर सुनाया ऐसा बड़ा आदेश


उमरान, जो कैश-रिच लीग में अपनी तेज गति से क्रिकेट प्रशंसकों को मंत्रमुग्ध कर रहे हैं, वे दक्षिण अफ्रीका के पूर्व महान डेल स्टेन से गुर सीख रहे हैं, जो वर्तमान में सनराइजर्स हैदराबाद के तेज गेंदबाजी कोच के रूप में काम कर रहे हैं। पीटरसन ने बताया कि, इस समय आईपीएल में बहुत सारे युवा भारतीय तेज गेंदबाज हैं। विदेशी खिलाड़ियों में से केवल लॉकी फग्र्यूसन और अल्जारी जोसेफ अपनी गति के साथ तेज गेंदबाजी कर रहे हैं। कार्तिक त्यागी और मोहसिन खान दोनों तेज गेंदबाज हैं, लेकिन जो सबसे रोमांचक है वह उमरान मलिक हैं। उन्होंने 5 मई को दिल्ली के खिलाफ 157 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी की थी, जो अब तक का सर्वश्रेष्ठ है। पीटरसन ने कहा कि उमरान को पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिशेल जॉनसन की तरह 3-4 ओवर के छोटे स्पेल में लगाया जा सकता है। पीटरसन ने कहा, आप मलिक का इस्तेमाल गेंदबाजी के लिए उसी तरह कर सकते हैं जैसे ऑस्ट्रेलिया मिशेल जॉनसन का इस्तेमाल करता था। अगर मैं भारत का चयनकर्ता होता, तो मैं उसे इंग्लैंड के खिलाफ उस टेस्ट मैच के लिए चयन के लिए उपलब्ध कराता।