केरल के वित्त मंत्री के.एन. बालगोपाल ने शुक्रवार को राज्य के लिए 20,000 करोड़ रुपये के कोविड पैकेज की घोषणा की। राज्य में कोरोना के अब तक लगभग 26 लाख मामले आ चुके हैं और 9,200 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीके मुफ्त दिए जाएंगे और इसके लिए पैकेज में 1,000 करोड़ रुपये अलग रखे गए हैं।

अपने पहले बजट भाषण में, 57 वर्षीय बालगोपाल ने यह भी कहा, इसमें आपातकालीन कोविड स्थिति के लिए 2,800 करोड़ रुपये शामिल हैं। उन लोगों के लिए 8,900 करोड़ रुपये, जिनकी आजीविका के साथ गंभीर समस्याएं हैं। 8,300 करोड़ रुपये का उपयोग ब्याज सब्सिडी प्रदान करने के लिए किया जाएगा।यह दूसरा कोविड पैकेज है जिसकी घोषणा पिनाराई विजयन सरकार द्वारा की गई है, पहला पिछले साल मार्च में किया गया था, जो कि 20,000 करोड़ रुपये का भी था।

बालगोपाल ने अपने हाथों में बजट पेपर लेकर अपना आवास छोडऩे से ठीक पहले कहा था कि उनका बजट महामारी से निपटने पर जोर देगा। बालगोपाल ने विधानसभा में अपने भाषण में कहा, कोविड महामारी ने अर्थव्यवस्था पर भारी असर डाला है और हमने स्वास्थ्य को प्रमुख महत्व देने का फैसला किया है। केंद्र की वैक्सीन नीति पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि टीकों का निर्यात पेशेवर तरीके से नहीं किया गया। 

राज्य भर में स्वास्थ्य केंद्रों को मजबूत करने के लिए 635 करोड़ रुपये अलग रखे गए हैं, साथ ही मेडिकल कॉलेजों में नए ब्लॉक बनाए जाएंगे। बालगोपाल ने कहा कि अमेरिका स्थित सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन की तरह यहां एक केंद्र स्थापित करने के लिए प्रारंभिक अध्ययन शुरू करने के लिए 50 लाख रुपये अलग रखे गए हैं। देश में कोविड का पहला मामला जनवरी 2020 में राज्य के त्रिशूर में पहचाना गया था और वर्तमान में लगभग 1.92 लाख सक्रिय मामले है। वाणिज्य में स्नातकोत्तर और कानून में परास्नातक, बालगोपाल, पहली बार विधायक बने हैं।