दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal) ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) से आग्रह किया कि कोरोना वायरस के नए स्वरूप से प्रभावित देशों से भारत आने वाली उड़ानों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई जाए। केजरीवाल ने प्रधानमंत्री को भेजे गए पत्र में लिखा है, ‘‘हमारे देश ने पिछले डेढ़ साल में कोरोना वायरस के खिलाफ मुश्किल लड़ाई लड़ी है। काफी कठिनाइयों के बाद और हमारे लाखों कोविड योद्धाओं की नि:स्वार्थ सेवा के कारण हमारा देश कोरोना वायरस से उबर पाया है।’’ 

उन्होंने पत्र में लिखा है, ‘‘हमें डब्ल्यूएचओ (विश्व स्वास्थ्य संगठन) द्वारा हाल में पता लगाये गए इस नए चिंताजनक स्वरूप को भारत में आने से रोकने के लिए हरसंभव कदम उठाना चाहिए...मैं आपसे आग्रह करता हूं कि आप इन क्षेत्रों से आने वाली उड़ानों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाएं। यदि कोई संक्रमित व्यक्ति भारत आ गया, तो इस संबंध में कोई भी देरी घातक साबित हो सकती है।’’ यूरोपीय संघ के सदस्यों समेत कई देशों ने कोविड-19 के नए स्वरूप ओमीक्रोन से प्रभावित क्षेत्रों पर यात्रा प्रतिबंध लगा दिए हैं। 

‘ओमीक्रोन’ को लेकर दुनियाभर में पैदा हुई चिंताओं के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘अग्रसक्रिय दृष्टिकोण’ अपनाने की आवश्यकता पर शनिवार को बल दिया था और संभावित खतरों के मद्देनजर अधिकारियों से अंतरराष्ट्रीय यात्रा प्रतिबंधों में ढील देने की योजना की समीक्षा करने को भी कहा था। प्रधानमंत्री ने लोगों से अत्यधिक सतर्क रहने तथा मास्क पहनने एवं उचित दूरी सहित बचाव के सभी अन्य उपायों का अनुपालन करने की भी अपील की। देश में कोविड-19 की स्थिति और जारी टीकाकरण अभियान की समीक्षा के लिए प्रधानमंत्री ने शीर्ष अधिकारियों के साथ एक अहम बैठक की थी। 

लगभग दो घंटे चली इस बैठक के दौरान अधिकारियों ने प्रधानमंत्री को ‘‘चिंता का विषय’’ बने ‘ओमीक्रोन’ और उसकी प्रकृति, विभिन्न देशों में इसके प्रभाव और भारत पर इसके असर के बारे में जानकारी दी और साथ ही इसके संभावित प्रभावों पर भी चर्चा की। केंद्र ने बृहस्पतिवार को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा था कि दक्षिण अफ्रीका, हांगकांग और बोत्सवाना से आने वाले या इन देशों के रास्ते आने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कड़ी जांच की जाए। इन देशों में कोविड​​​​-19 के नए स्वरूप के सामने आने की सूचना है। इस बीच, दिल्ली सरकार ने अफ्रीकी देशों से कोविड-19 के नए स्वरूप के खतरे के मद्देनजर उठाए जाने वाले कदमों पर चर्चा के लिए दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की सोमवार को एक बैठक बुलाई है।