कलियाबर, जखलाबंधा और काजीरंगा में बाढ़ की स्थिति बिगड़ने के बाद राहत और बचाव कार्य में सेना को लगाया गया है। 

शनिवार शाम से मूसलाधार बारिश के कारण ब्रह्मपुत्र का जलस्तर अप्रत्याशित रूप से बढ़ गया और देर रात दो बजे सिलघाट इलाके के हातीमुरा स्थित मुख्य रक्षा कवच कहे जाने वाले तटबंध का एक बड़ा हिस्सा टूट गया।

इसके कारण बिजली की गति से जखलाबंधा शहर में बाढ़ का पानी घुस गया। बाढ़ के चलते समूचे क्षेत्र की बिजली सेवा ठप कर दी गई है। इसके कारण शाम ढलने के बाद आतंक और फैल गया।

जखलाबंधा थाना, पट्रोल पंप, गैस एजेंसी, बस स्टैंड, महाराजा होटल, शंकर स्टोर के साथ शहर का नब्बे फीसदी व्यावसायिक प्रतिष्ठान बाढ़ की चपेट में है।