लगभग 20 महीने बाद कोविड-19 (COVID-19) मामलों में गिरावट के कारण करतारपुर कॉरिडोर बुधवार को फिर से खुल गया। करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) भारत और पाकिस्तान में सिख धर्मस्थलों को जोड़ता है।
गृह मंत्री अमित शाह (HM Amit Shah) ने माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर कहा कि "एक बड़े फैसले में, जिससे बड़ी संख्या में सिख तीर्थयात्रियों को फायदा होगा, पीएम @Narendramodi सरकार ने कल से करतारपुर साहिब कॉरिडोर को फिर से खोलने का फैसला किया है। यह निर्णय श्री गुरु नानक देव जी और हमारे सिख समुदाय के प्रति मोदी सरकार की अपार श्रद्धा को दर्शाता है।"

हालांकि इस कॉरिडोर को साल 2019 में ही खोल दिया गया था लेकिन महज चार महीने के अंदर ही कोरोना के चलते मार्च 2020 में इसे बंद कर दिया गया। अब करीब डेढ़ साल बाद इस दरगाह को एक बार फिर से खोला जा रहा है। भारत सरकार ने इस संबंध में एक घोषणा की।
हालांकि, जो लोग पवित्र स्थान की यात्रा करना चाहते हैं, उन्हें पता होना चाहिए कि खुद को ऑनलाइन कैसे पंजीकृत करना है। यहां हम आपको स्टेप बाई स्टेप ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के स्टेप्स के बारे में बताएंगे।
करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) पंजीकरण ऑनलाइन बुकिंग सीधे इस लिंक पर क्लिक करके की जा सकती है।

अब, आइए चरणबद्ध तरीके से समझते हैं कि कोई व्यक्ति करतारपुर कॉरिडोर वेबसाइट पर खुद को कैसे बुक/पंजीकृत कर सकता है

चरण 1: गृह मंत्रालय की वेबसाइट -

https://prakashpurb550.mha.gov.in/kpr/ पर लॉग ऑन करें।

चरण 2: यह सुझाव दिया जाता है कि बुकिंग प्रक्रिया शुरू करने से पहले 'पंजीकरण फॉर्म भरने के निर्देश' को पढ़ना चाहिए

चरण 3: यात्रा की तारीख और राष्ट्रीयता का चयन करें, और फिर 'जारी रखें' दबाएं

चरण 4: करतारपुर कॉरिडोर पंजीकरण फॉर्म का 'पार्ट ए' भरें और 'सेव एंड कंटिन्यू' पर क्लिक करें। इसके बाद बचे हुए हिस्सों को भरें।

चरण 5: एक बार जब आप पूरा कर लेते हैं, तो आपको एक पंजीकरण संख्या और फॉर्म की एक पीडीएफ कॉपी प्राप्त होगी। भविष्य में उपयोग के लिए पीडीएफ फाइल को सेव करें और रजिस्ट्रेशन नंबर को नोट कर लें।

चरण 6: तीर्थयात्रियों को यात्रा की तारीख से तीन से चार दिन पहले पंजीकरण की पुष्टि के संबंध में एक एसएमएस और ई-मेल प्राप्त होगा।