कन्हैया कुमार की संविधान बचाओ, नागरिकता बचाओ रैली में मोदी मुर्दाबाद और इस्लाम परस्ती नारे लगाए जाने की खबर सामने आई है। दरअसल कन्हैया ने गुरुवार को पटना में यह बड़ी रैली की थी। पटना के प्रसिद्ध गांधी मैदान में आयोजित इस रैली में तमाम सामाजिक हस्तियों के बीच कन्हैया कुमार के मंच पर पीएम मोदी के खिलाफ जमकर भाषण कराए गए। इतना ही नहीं बल्कि कन्हैया कुमार ने मंच पर क ऐसे बच्चे को उतार दिया जिसने पीएम के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग भी किया। कन्हैया ने इस बच्चे का विरोध भी नहीं किया, बल्कि बाद में समर्थन के लिए उसे गोद में उठाकर जनता का अभिवादन किया।

रैली में मंच पर खड़े इस बच्चे ने भीड़ के बीच आजादी के नारे लगाते हुए कई बातें कहीं। इस दौरान इस बच्चे ने यह भी कहा कि अगर भारत में ताजमहल और लालकिला ना होता तो क्या पीएम अमेरिकी राष्ट्रपति को गाय और गोबर दिखाते? मंच पर खड़ा बच्चा किसी कट्टरपंथी सभा की तरह नरेंद्र मोदी के खिलाफ गुस्से के शब्द बोलता रहा और कन्हैया समेत तमाम मंचासीन अतिथि उसे सुनते रहे। इतना ही नहीं बल्कि इस बच्चे से आजादी के नारे भी लगवाए। बाद में मंच पर भाषण देने के बाद वापस जा रहे इस बच्चे को कन्हैया ने गोद में उठा लिया और फिर जनता के बीच उससे अभिवादन भी कराया। 

इतना ही नहीं बल्कि कन्हैया कुमार खुद भी मंच पर आए और सीएए-एनआरसी और दिल्ली हिंसा के मुद्दों पर पीएम मोदी की जमकर आलोचना की। अपने भाषण में कन्हैया ने सत्तारूढ़ बीजेपी पर मुसलमानों के खिलाफ हिंदुओं को भड़काने का आरोप लगाते हुए लोगों से राम प्रसाद बिस्मिल और अशफाकउल्ला खान की दोस्ती का अनुकरण करके उनके एजेंडे को हराने का संकल्प करने का आह्वान किया। कन्हैया ने बिहार विधानसभा में एनपीआर और एनआरसी के खिलाफ सर्वसम्मति से पारित किए गए प्रस्ताव पर भी नाखुशी जताई। कन्हैया ने कहा सरकार और विपक्ष दोनों खुद को बधाई देने में व्यस्त हैं। मैं अपनी बधाई भी देता हूं। लेकिन उन सभी के लिए जो यहां मौजूद हैं, मैं कहूंगा कि यह आधी जीत है। जब तक एनपीआर की कवायद वापस नहीं ले ली जाती हम गांधी के सविनय अवज्ञा से सबक हासिल कर अपने आंदोलन को विफल नहीं होने देंगे।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360