BJP के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि एशियाई देशों में सिर्फ भारत कोरोनावायरस संकट से जूझ रहा है। उन्होंने चीन पर सवाल उठाते हुए एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए यह भी कहा कि चीन ने पहले ट्रंप को चुनाव हरवाने में मदद कर हटाया, दूसरा खुन्नस उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से है।

उन्होंने कहा कि देश में जिस तरह से कोरोना महामारी चल रही है, उसमें विपक्ष सहित सभी को गंभीरता के साथ सरकार के साथ खड़े होकर जनता के दुख दर्द को मिटाने में सहयोग करना चाहिए। चीन के सवाल पर विजयवर्गीय ने कहा कि चीन किसी देश को आगे बढ़ने नहीं देता है और जो आगे बढ़ता है, उसे कमजोर करने में जुट जाता है। यह चाइना की पॉलिसी होती है।

कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि विश्व मीडिया में अमेरिका और भारत से चीन की नाराजी संबंधी जो खबरें छपने के साथ आशंका जाहिर की है। उससे यह कहने में संकोच नहीं कि यह दूसरी लहर चीन के मानव निर्मित वायरस का असर है। उन्होंने साफ किया कि दूसरी लहर की घातकता का ऐसा अनुमान इसलिए नहीं था क्योंकि अन्य एशियाई देशों में यह लहर नहीं थी। इसे लेकर चीन पर इसलिए शंका हो कि अमेरिका के वैज्ञानिक भी शंका जाहिर कर चुके हैं कि मानव निर्मित वायरस वार चीन की साजिश हो सकती है।

उन्होंने कहा कि चीन ने पहले ट्रंप को चुनाव हरवाने में मदद कर हटाया, दूसरा खुटका उसे प्रधानमंत्री मोदी से है क्योंकि केंद्र की कूटनीति के चलते असहाय हुए चीन को पहली बार भारत की जमीन से पैर पीछे खींचना पड़ा है। मोदी जी की कूटनीतिक सफलता के चलते कई इस्लामिक देश भारत के साथ आ गए हैं, इससे वह बौखलाया हुआ है।

इधर, इंदौर में कोरोना सख्ती को लेकर 20 मई को प्रशासन की तरफ से जारी आदेश के विरुद्ध किए गए ट्विट पर उनका कहना था कि शहर के लोगों ने परेशानी बताई थी। सरकार ने कुछ निर्णय लिया तो सही-गलत तो बाद में ही समझ आता है, अच्छा है, अब दुकानें शुरू हो गई हैं।