केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) ने आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वीप (Netaji Subhas Chandra Bose Island)  से अंडमान-निकोबार ( Andaman and Nicobar) के लिए विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया।  

इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अमित शाह ने विरोधियों पर जमकर हमला बोला।  अमित शाह ने कहा कि आज भी अंडमान की हवाओं में सावरकर और नेता सुभाष चंद्र बोस मौजूद हैं।  उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने भारत को एक नई पहचान दी है। 

अमित शाह ने कहा, अगर सरदार पटेल (Sardar Patel) न होते तो आज भारत न होता।  उन्होंने बहुत कम समय में तीन सौ से ज्यादा रियासतों को एक करके भारत का निर्माण किया। लेकिन पिछले सरकारों ने उन्हें वह सम्मान नहीं दिया, जिसके वह हकदार थे।  पिछले सरकारों ने देश के प्रति उनके योगदान को भुला दिया।  उन्होंने कहा कि आजादी के नायकों (heroes of freedom) के साथ न्याय नहीं हुआ। 

अमित शाह ने आगे कहा, सरदार पटेल को जितना सम्मान आजादी के बाद मिलना चाहिए था, उतना नहीं मिला।  लेकिन इतिहास ऐसा है जो अपने आप को दोहराता है।  हम किसी के साथ भी अन्याय करने की कोशिश करें, लेकिन काम कभी छिपता नहीं है।  उन्होंने कहा, उस वक्त जो हुआ सो हुआ, लेकिन आज पूरा देश अपने नायकों को सम्मान दे रहा है।