ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका और जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन एक बार फिर सवालों के घेरे में है। माना जा रह है कि उपयोग कि बाद दोनों ही वैक्सीन शरीर में खून के थक्के जमा देती हैं। जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल के बाद रक्त में थक्के बनने के छह मामले सामने आने के बाद अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने कंपनी के वैक्सीन के इस्तेमाल पर कुछ समय के लिए रोक लगाने की सिफारिश की है। वहीं ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन कोविशील्ड के इस्तेमाल के बाद भी रक्त में असामान्य थक्के बनने के मामले सामने आ चुके हैं।

यूरोपीय चिकित्सा एजेंसी (ईएमए) ने पिछले हफ्ते कहा कि असामान्य रक्त के थक्कों को एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के एक बहुत ही दुर्लभ दुष्प्रभाव के रूप में सूचीबद्ध किया जाना चाहिए, हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि कोविड -19 को रोकने में अगर इस टीके के समग्र लाभ को देखें तो इससे कोरोना संक्रमण का जोखिम कम हो गया है। रक्त के ये थक्के आमतौर पर मस्तिष्क की नसों में बन रहे हैं।