झारखंड के गुमला जिले में उग्रवादी संगठन जेजेएमपी के हथियारबंद दस्ते ने अपने पूर्व साथी अमरदीप लकड़ा और उसके परिवार पर हमला किया। उग्रवादियों द्वारा की गयी गोलीबारी में जेजेएमपी का पूर्व सदस्य अमरजीत की पत्नी और उसकी 3 साल की मासूम बेटी की मौके पर ही मौत हो गयी, जबकि घायल अमरजीत वहां से भाग निकला।

ये भी पढ़ेंः इस राज्य में बेहद एक्शन में दिख रही है पुलिस, हिरासत से भाग रहे इतने अपराधियों को मारी गोली, देखें ये आंकड़ें


वहीं उसका बेटा घटनास्थल पर कल रातभर अपनी मां और बहन की लाश के पास बैठ कर रोता रहा। घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार चैनपुर थाना अंतर्गत जनावल गांव के समीप कंचन मोड़ के पास सोमवार देर रात अज्ञात हमलावरों ने अपने परिवार के साथ से जनावल गांव लौट रहे अमरदीप लकड़ा और उसके परिवार पर गोलियों की बौछार कर जानलेवा हमला किया। इस हमले में अमरदीप घायल हो गया, जबकि उसकी पत्नी नीति कुजूर व 3 वर्षीय पुत्री अनन्या कुजुर की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। वहीं उसका पांच वर्षीय पुत्र अनुज कुजूर सुरक्षित बच गया। 

ये भी पढ़ेंः चुटकियों में घर के मच्छरों का सफाया कर देगा ये गैजेट, कीमत सिर्फ 320 रूपये


घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में लेकर छानबीन शुरू कर दी है । अमरदीप को घायल अवस्था में उसके घर से ही बरामद करने के बाद उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया गया है कि अमरदीप लकड़ा पूर्व में उग्रवादी संगठन जेजेएमपी का सदस्य था। इसलिए यह पुष्टि नहीं हो सकी है कि इस पर जानलेवा हमला किस संगठन के द्वारा किया गया है। पुलिस अधीक्षक एहतेशाम बकारीब ने आज कहा कि अभी जांच की जा रही है । जब तक खुलासा नहीं होता है कि किस संगठन के द्वारा इस घटना को अंजाम दिया गया है, कुछ कहना जल्दबाजी होगी। इस घटना के बाद स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल है।