भारतीय महिला टीम की दिग्गज झूलन गोस्वामी ने इंटरनेशनल क्रिकेट से अपने संन्यास की घोषणा कर दी है। झूलन ने अपना आखिरी मैच इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड पर खेला, जिसमें भारतीय टीम को 16 रन से जीत मिली। इस मैच में झूलन ने 2 विकेट चटकाए थे। 

ये भी पढ़ेंः बड़ा खुलासाः PFI ने रची थी PM मोदी पर हमले की साजिश, ट्रेनिंग कैंप भी लगाए गए

झूलन गोस्वामी का करियर: चकदा एक्सप्रेस के नाम से मशहूर झूलन गोस्वामी दुनिया की सबसे तेज गेंदबाज और सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली गेंदबाज हैं। 6 जनवरी 2002 को इंटरनेशनल डेब्यू करने वाली झूलन ने 19 साल के करियर में 284 मैचों में 355 विकेट चटकाए हैं। उनके नाम महिला विश्व कप में सबसे अधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड हैं। उन्होंने 34 विश्व कप मैचों में 43 विकेट लिए हैं। वे विश्व कप में 2 बार 4 विकेट ले चुकी हैं। झूलन ने अपने इंटरनेशनल करियर में 1924 रन भी बनाए हैं। इसमें 3 फिफ्टी भी शामिल हैं।

झूलन गोस्वामी के आखिरी मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 45.4 ओवर में 169 रन बनाए, इसके जवाब में इंग्लैंड की टीम 43.4 ओवर में 153 रन ही बना सकी। इस मैच में झूलन गोस्वामी ने 10 ओवर में 30 रन देकर 2 विकेट लिए।  झूलन का 10 ओवर का कोटा खत्म होने के बाद भारतीय खिलाड़ियों ने झूलन को बधाई दी और गले मिले। 

झूलन (39 वर्ष) ने इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज समाप्त होने के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। भारतीय टीम ने इस सीरीज में क्लीनस्वीप करके इस दिग्गज तेज गेंदबाज को शानदार विदाई दी। झूलन ने 2002 में भारत की तरफ से पदार्पण किया था। उन्होंने अपने करियर में 12 टेस्ट, 204 वनडे और 68 टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेले। इन सभी में मिलकर उन्होंने 355 विकेट लिए।

ये भी पढ़ेंः अमित शाह का बड़ा बयान, नीतीश कुमार का अब नहीं लेंगे साथ, बिहार में CM फेस पर भी स्थिति साफ

झूलन ने अपने करियर में पांच वनडे विश्वकप (2005, 2009, 2013, 2017 और 2022) में भाग लिया तथा वह महिला विश्व कप में सर्वाधिक विकेट लेने वाली गेंदबाज हैं। वह महिला क्रिकेट में 250 से अधिक वनडे विकेट लेने वाली एकमात्र तेज गेंदबाज हैं।