पटना से चोरी हुई बुलेट पर एक ASI झारखंड में घूमता मिला जिसके बाद उसें सस्पेंड कर दिया गया। यह एएसआई झारखंड के दुमका में तैनात था। यह बरामद बुलेट बाइक पटना के दिवाकर कुमार की बताई जा रही है।

खबर है कि पटना के दिवाकर कुमार की बुलेट करीब पांच साल पहले चोरी हो गई थी। इसकी रिपोर्ट दिवाकर ने पटना के एसके पुरी पुलिस स्टेशन में दर्ज भी कराई थी। खबर है कि कि इसका खुलासा तब हुआ, जब बुलेट की सर्विसिंग के बाद चेसिस नंबर के आधार पर सर्विस सेंटर से बुलेट के मालिक को मैसेज मिला।

दुमका के मुफ्फसिल थाने पर तैनात एएसआई अखलाक खान ने सर्विसिंग के लिए बुलेट सर्विस एजेंसी में दी थी। 23 दिसंबर की शाम सर्विसिंग के बाद सर्विस सेंटर से रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर बुलेट के मालिक को यह मैसेज भेजा गया कि सर्विसिंग हो चुकी है। वे आकर सर्विसिंग चार्ज का भुगतान कर अपनी बुलेट ले जा सकते हैं। बुलेट मालिक को उसके दुमका में होने की जानकारी मिली। मालिक ने उस मैसेज में दिए गए टोल नंबर फ्री पर फोन किया तो पूरे मामले की जानकारी मिली।

सर्विसिंग सेंटर से जानकारी मिली की मुफ्फसिल थाने पर तैनात एक पुलिस अधिकारी ने बुलेट सर्विसिंग कराने के लिए दी थी। दिवाकर ने इसकी जानकारी एसके पुरी थाने को देकर दुमका पुलिस से संपर्क कर बुलेट की बरामदगी कराने की गुहार लगाई। दिवाकर ने 24 दिसंबर के दिन दुमका के पुलिस अधीक्षक अंबर लाकड़ा को आवेदन देकर बुलेट बरामद कराने और इस मामले की जांच कराने की अपील की।

दिवाकर के आवेदन पर दुमका पुलिस ने उनकी चोरी गई बुलेट बरामद कर ली है। एसपी ने प्रारंभिक जांच में चोरी की बुलेट रखने का आरोपी पाए जाने पर एएसआई अखलाक को निलंबित कर दिया है। एसपी ने मामले की जांच टाउन थाने के एसएचओ देवेंद्र पोद्दार को सौंपी है। एसएचओ पोद्दार ने जांच शुरू कर दी है।