पलटन बाजार थाना अंतर्गत बी बरुवा रोड स्थित सीतला ज्वेलर्स में अभियान चलाकर गुरुवार को चोरो के सोने वे आभूषण बरामद किए  । इस सिलसिले में पुलिस ने ज्वेलर्स के मालिक को गिरफ्तार किया । पुलिस ने इससे पहले एक चोरो मामले में एक किशोर को धर दबोचा । गिरफ्तार ज्वेलर्स मालिक का नाम सुनिल मंडल (43, भास्कर नगर, कॉलोनी, कालापहाड़ )हैं जबकि किशोरी  की उम्र 15 साल बताई  गई है । 

पुलिस ने बताया कि उलुबाड़ी  एपीआरओ कालोनी निवासी दिपाली बायन के घर से 2 माह पहले चोरों ने गोदरेज की अलमारी तोड़ सोने  के आभूषण उड़ा लिए। जिस दिन यह घटना घटी, उस दिन दिपालीव का परिवार घर पर नही था । जब वह घर लौटी तो घर का नजारा देख दंग  रह गई । 

गोदरेज का लॉक भी टुटा पाया और गोदरेज में रखे सोने से भरे टोपला गायब पाया । समझने में देर नही लगी कि चोरों ने की घर में चोरी की है  । इस संबंध में बायन ने पलटन बाजार थाने में एक मामला दर्ज कराया । पुलिस ने इस संबंध में भारतीय दंड विधि को 380 नंबर की धारा के तहत 1096/18नंबर का मामला दर्ज कर लिया । 

उधर दिपाली ने खुद इस चौरी कांड की जांच अपने स्तर पर शुरु कर दी । जांच में पता चला की दिपाली के गोदरेज से पास के ही 15 वर्षीय युवक शामिल है । उक्त का बायन के यहाँ आना जाना रहता था । कड़ाई से पूछताछ में उसने अपना गुनाह कबूल लिया और कहा कि गोदरेज से उसी ने सोने का आभूषण चुराया है, जिसे उसने बेच दी । इसकी जानकारी पुलिस को दी । 

पुलिस ने बीती रात किशोर को उसके घर से पकड़ लिया । वहीं चोरी  के सोने के आभूषण खरीदने वाले सीतला ज्वेलर्स मालिक सुनिल मंडल को भी गिरफ्तार कर लिया । पुलिस ने उसके ज्वेलर्स में अभियान चलाकर  चोरी के कुछ सोने को बरामद कर लिया । आज ज्वेलर्स मालिक को पुलिस ने न्यायालय में पेश किया है जहां  न्यायालय ने उसे 14 दिनों की न्यायायिक हिरासत  में भेज दिया ।

वहीं  किशोर कोई जुवेनल कोर्ट में पेश किया गया, जहां  कोर्ट के निर्देश के तहत किशोर को पुलिस ने बोको स्थित बाल सुधार गृह भेज दिया । जांच में पुलिस को यह भी तथ्य हाथ लगे कि इस चोरी में ज्वेलर्स के कर्मचारी तपन दे  (मणिपुरी बस्ती ) भी शामिल है, जिसने चोरी के सोने के आभूषण को गलाकर अन्य रुप दिया था । हालांकि दे फरार बताया गया हैं ।