Russia Ukraine War ने यूक्रेन को पूरी तरह से तबाह करने रूस पीछे नहीं रह रहा है। रूस यूक्रेनियन को रूस में बिना वीजा रूस देश में प्रवेश करने की भी इजाजत देती है। यूक्रेन अपनी ताकत को कायम रखते हुए रूसी सैनिकों का सामना कर रहे हैं। इसी बीच मदद की गुहार लगा रहे यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्कि का गुस्सा फूट गया है। उन्होंने दुनियाभर के नेताओं पर मदद ना करने पर गुस्सा निकाला है।
 

 

गोलाबारी तेज करने के बीच युद्धग्रस्त देश के राष्ट्रपति Volodymyr Zelenskyy ने पश्चिमी देशों से रूस के खिलाफ प्रतिबंध और कड़े करने का आग्रह किया है। जेलेंस्की ने रूसी रक्षा मंत्रालय की घोषणा का जवाब नहीं देने के लिए रविवार शाम एक वीडियो संदेश में पश्चिमी नेताओं की आलोचना की है।

यह भी पढ़ें- AQIS में अल-कायदा के बांग्लादेश चैप्टर के रूप में जाने खूंखार आतंकी सैफुल इस्लाम असम में गिरफ्तार
रूस के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि वह यूक्रेन के सैन्य-औद्योगिक परिसर पर हमला करेगा और उसने इन रक्षा संयंत्रों के कर्मचारियों को काम पर नहीं जाने को भी कहा है। जेलेंस्की ने कहा कि ‘मैंने एक भी विश्व नेता की इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं सुनी। आक्रमण करने वाले का दुस्साहस दिखाता है कि मौजूदा प्रतिबंध पर्याप्त नहीं हैं’।
Zelenskyy ने ऐसे अपराधों का आदेश देने और उन्हें अंजाम देने वालों को न्याय के कटघरे में लाने के लिए एक ‘प्राधिकरण’ बनाने का आह्वान किया है।

यह भी पढ़ें- Ukraine Russia War में रुला देने वाला वीडियो हुआ वायरल, इसे देखने के बाद लोग नहीं रोक पा रहे आंसू


कब्जा करने वालों की हिम्मत देखिए- जेलेंस्की

उन्होंने कहा कि ‘कब्जा करने वालों की हिम्मत देखिए, जो इस तरह के नियोजित अत्याचारों की घोषणा कर सकते हैं’। रूसी रक्षा मंत्रालय ने घोषणा की थी कि उसकी सेना यूक्रेन के सैन्य-औद्योगिक परिसर पर सटीक हथियारों से हमला करेगी। रूस की सरकारी समाचार एजेंसी ‘तास’ ने एक खबर में रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता इगोर कोनाश्नेकोव के हवाले से कहा था कि ‘हम यूक्रेन के रक्षा उद्योग संयंत्रों के सभी कर्मियों से आग्रह करते हैं कि वे उद्यम परिसरों से बाहर चले जाएं ’।