नीतीश कुमार की पार्टी जनता जल यूनाइटेड अब मेघालय में चुनाव लड़ने की तैयारियों में हैं। पार्टी ने यहां आगामी जिला परिषद और लोकसभा चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है। जदयू ने पिछले 27 फरवरी को हुए मेघालय विधानसभा चुनावों में अपने उम्मीदवार नहीं उतारे थे, क्योंकि तब तक राज्य में पार्टी की इकाई स्थापित नहीं हो पाई थी ।

जदयू के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्वोत्तर राज्यों के प्रभारी सुनील के कश्यप ने कहा कि जदयू आगामी जिला परिषद और लोकसभा चुनावों में उम्मीदवारों को मैदान में उतारने के तरीको और साधनों का पता लगाएगा।

मंगलवार को यहां पत्रकारों से बातचीत में कश्यप ने कहा कि पार्टी मेघालय में अपना आधार बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा है कि हमने नागालैंड विधानसभा चुनाव लड़े, लेकिन मेघालय में नहीं लड़ा था क्योंकि तब हम संगठनात्मक आधार स्थापित नहीं कर सके थे।

उन्होंने कहा कि अब मजबूती के साथ हम किसी भी चुनाव का सामना करने को तैयार है। जदयू नेता के अनुसार हालांकी पार्टी बिहार, नगालैंड और केंद्र में एनडीए का हिस्सा है । मिजोरम मे भी आगामी चुनाव अकेले लड़ेगी।

कश्यप ने कहा कि वर्तमान मेघालय सरकार के पास एनडीए का समर्थन करने वाले सहयोगी हैं, लेकिन जदयू भविष्य में  अकेले चुनाव लडेगा। कश्यप ने आशा जताई कि समाजवाद की विचारधारा वाली इस पार्टी का मानना है कि मेघालय के लोग जदयू का स्वागत करेंगे।

उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर में अभी तक पूरी तरह से समाजवाद विकसित नहीं हुआ है और इस संदर्भ में हमें समाजवाद के सिद्धांतों का पालन करना होगा। समाजवाद कि हमारी विचारधारा सभी को अवसर प्रदान करती है । उन्होंने कहा कि अब मजबूती के साथ हम किसी भी चुनाव का सामना करेंगे। 

हमें जार्ज फर्नांडीज जैसे लोगों से प्रेरणा मिलती है। एक सवाल के जवाब में जदयू नेता ने कहा कि वर्ष 2019 के चुनावों में पार्टी एनडीए के बैनर तले चुनाव लड़ेगी। उन्होंने यह भी बताया कि कुछ पूर्व मंत्रियों समेत कई नेता जदयू में शामिल होने के इच्छुक हैं।