छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान एवं मिजोरम में इस वर्ष के अंत तक होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक 8 जुलाई को दिल्ली में आयोजित होगी।


लोकसभा चुनाव से पहले यह बैठक दिल्ली में आयोजित होने के कारण अहम मानी जा रही है। पिछली राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक अगस्त, 2017 को पटना में आयोजित हुई थी।


महागठबंधन से नाता तोडऩे के कुछ ही दिनों बाद यह बैठक हुई थी। अंदाजा लगाया जा रहा है कि बैठक में 2019 लोकसभा चुनाव की रणनीति और सीटों के बंटवारे पर भी चर्चा होगी।


पार्टी के प्रधान राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि लोकसभा चुनाव पर विमर्श राष्ट्रीय कार्यकारिणी के एजेंडा में शामिल नहीं है। देश के वर्तमान राजनीतिक हालात की समीक्षा होगी और संगठन विस्तार के अलावा इस वर्ष कई राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव पर बैठक में चर्चा होगी।


सूत्रों ने बताया कि लोकसभा चुनाव को भले ही एजेंडा में शामिल नहीं किया गया है, मगर वर्तमान राजनीतिक हालात पर चर्चा इसी संदर्भ में होगी। उस समय इस विषय पर मीटिंग में खुलकर चर्चा होगी। जदयू के राष्ट्रीय महासचिव आफाक अहमद ने बताया कि बैठक में पार्टी के आगे के कार्यक्रम भी तय किए जा सकते हैं।


इससे पूर्व 7 जुलाई को राष्ट्रीय अध्यक्ष पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों से विमर्श करेंगे। पार्टी की विभिन्न राज्य इकाइयों के संगठन संबंधी मामले भी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में निपटाए जाएंगे। राष्ट्रीय सचिव रवींद्र सिंह के मुताबिक, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान एवं मिजोरम में इस वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव पर विमर्श होगा। पार्टी ने इन चारों राज्यों में चुनाव लड़ेगी।