मौजूदा टी-20 विश्व कप 2021 (ICC T20 WC ) में शुक्रवार को स्कॉटलैंड के खिलाफ मैच में दो विकेट हासिल करने के बाद तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) 64 विकेटों के साथ भारत के लिए टी-20 अंतरराष्ट्रीय में सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए। वह अब हमवतन लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) से एक विकेट आगे हैं। चहल के पास टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 63 विकेट हैं। 

27 वर्षीय तेज गेंदबाज ने मैच के 18वें ओवर में स्कॉटलैंड (India Vs Scotland) के मार्क वाट को आउट करके यह उपलब्धि अपने नाम की। भारत के लिए इस सूची में तीसरे नंबर पर अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) हैं। 48 मैचों में 55 विकेट उनके नाम हैं। भुवनेश्वर कुमार और रवींद्र जडेजा क्रमश: 52 मैचों में 50 और 54 मैचों में 43 विकेटों के साथ चौथे और पांचवें स्थान पर हैं। 

बुमराह ने टी-20 अंतरराष्ट्रीय विकेटों के मामले में दिग्गज दक्षिण अफ्रीकाई गेंदबाज डेल स्टेन (Dale Steyn) की बराबरी कर ली है, जिनके नाम 47 पारियों में 64 विकेट हैं, जबकि भारतीय तेज गेंदबाज ने 19.85 के औसत और 6.55 की इकॉनमी से 53 पारियों में यह मुकाम हासिल किया है। इस सूची में हालांकि बंगलादेश के स्टार ऑलराउंडर शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) शीर्ष पर हैं, जो 93 पारियों में 117 विकेट के साथ दुनिया में सर्वाधिक टी-20 अंतरराष्ट्रीय विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। 

जनवरी 2016 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में टी-20 अंतरराष्ट्रीय में पदार्पण करने वाले बुमराह को टी-20 अंतरराष्ट्रीय में सबसे ज्यादा मेडन ओवर फेंकने का गौरव भी प्राप्त है। उनके नाम आठ ओवर मेडन ओवर हैं। उनके बाद बंगलादेश के मुस्तफिजुर रहमान (Mustafizur Rahman) और श्रीलंका नुवान कुलसेकरा हैं, जिन्होंने टी-20 अंतरराष्ट्रीय में छह मेडन ओवर फेंके हैं। डेल स्टेन ने बुमराह की इस उपलब्धि पर कहा, वह एक अलग तरह के गेंदबाज हैं। उनका सामना करना मुश्किल है। उनके पास क्रीज पर गजब की ताकत है। वह अविश्वसनीय गति से गेंदबाजी कर सकते हैं और बीच में धीमी गति से बल्लेबाज को चकमा भी दे सकते हैं।