अब जल्द ही किसी भी व्यक्ति को खून की नहीं होगी। वैज्ञानिकों ने कृत्रिम खून बनाया है जिसको किसी भी व्यक्ति के चढ़ाया जा सकता है। यह कारनामा जापान के वैज्ञानिकों ने किया है। यह खून इतना अच्छा है कि किसी भी ब्लड ग्रुप वाले व्यक्ति को चढ़ाया जा सकता है। जापान के टोकोरोजावा स्थित नेशनल डिफेंस मेडिकल कॉलेज में इस खून को तैयार किया गया है। इसको 1 साल तक सामान्य तापमान पर रखा जा सकता है।

खबर है कि जापानी वैज्ञानिकों द्वारा बनाए गए इस खून में रेड ब्लड सेल्स, ऑक्सीजन, प्लेटलेट्स मौजूद हैं। प्रयोग के दौरान खून की कमी का सामना कर रहे 10 खरगोशों को यह कृत्रिम खून चढ़ाया गया जिनमें 6 बच गए। इस वैज्ञानिकों का कहना है कि यदि असली खून भी खरगोशों को चढ़ाया जाता तब भी लगभग ऐसी ही स्थिति होती।

वैज्ञानिकों का मानना है कि घायल होने के बाद खून की कमी की वजह से मौत के मुंह में जा रहे लोगों को इस नए कृत्रिम खून से फायदा होगा। अभी खून चढ़ाने से पहले अस्पतालों में आने वाले मरीजों का पहले ब्लड टाइप टेस्ट किया जाता है। इसके बाद उनके ही ग्रुप के ब्लड की व्यवस्था की जाती है। हालांकि ओ-निगेटिव एक ऐसा ब्लड है जो आपताकालीन स्थिति में किसी भी ब्लड टाइप वाले व्यक्ति को चढ़ाया जा सकता है। लेकिन यह ब्लड मिलना भी काफी मुश्किल होता है।

लेकिन अब इस कृत्रिम खून से उन लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती है जिन्हें आमतौर पर नहीं बचाया जा सकता।