जामुन गर्मियों में खाया जाने वाले एक टेस्टी और हैल्दी फल है। इसमें विटामिन, कैल्शियम, आयरन, एंटी- ऑक्सीडेंट, एंटी- बैक्टीरियल गुण होते हैं। इसमें चीनी ना मात्र होने से डायबिटीज कंट्रोल करने में रामबाण माना गया है। इसके अलावा यह इम्यूनिटी स्ट्रांग करने से लेकर कैंसर जैसी गंभीर बीमारी की चपेट में आने से बचाव करता है। 

शुगर के मरीजों के लिए जामुन एक वरदान स्वरूप माना जाता है। इसके अलावा जामुन के बीजों को सुखाकर इसका पाउडर बनाकर खाने से शुगर लेवल कंट्रोल रहने में मदद मिलती है। कोरोना से बचने के लिए इम्यूनिटी स्ट्रांग होना बेहद जरूरी है। इसके लिए डेली डाइट में पोषक तत्वों से भरपूर जामुन को शामिल करना बेस्ट रहेगा। इससे मौसमी बीमारियों व कोरोना जैसे गंभीर वायरस की चपेट में आने का खतरा कम रहेगा। 

जामुन का सेवन करने से पाचन क्रिया बेहतर होती है। इसके सेवन से पेट संबंधी समस्याओं से आराम रहता है। दस्त की समस्या होने पर जामुक को सेंधा नमक के साथ खाने से फायदा मिलता है। जामुन में मौजूद पोषक व एंटी-ऑक्सीडेंट्स गुण कैंसर जैसी गंभीर बीमारी की चपेट में आने से रोकता है। ऐसे में सेहतमंद रहने के लिए इसे अपनी डेली डाइट में शामिल करना बेस्ट ऑप्शन है। 

जामुन में विटामिन, कैल्शियम, मिनरल्स, आयरन आदि उचित तत्व होते हैं। इसका सेवन करने से मांसपेशियों व हड्डियों और मांसपेशियों में मजबूती आने में मदद मिलती है। किडनी स्टोन से परेशान लोगों को जामुन के बीज पीसकर इसका पानी या दही के साथ सेवन करना चाहिए। जामुन दांत और मसूड़़ों को स्वस्थ बनाने व इनसे जुड़ी कई समस्याओं से आराम दिलाने में मदद करता है। खासतौर पर इसके बीजों को पीसकर तैयार पाउडर से मंजन करना फायदेमंद माना गया है।