इन दिनों डांस करते या गाना गाते हुए लोगों को हार्ट अटैक आने के कई मामले सामने आ रहे हैं। इस बीच जम्मू कश्मीर के बिश्नाह से चौंकाने वाला मामला सामने आया है, जहां गणेश पूजा के एक कार्यक्रम में एक 20 साल का कलाकार डांस कर रहा था। इसी दौरान उन्हें हार्ट अटैक आया और वो बेहोश होकर मंच पर गिर गया । इस दौरान लोग तालियां बजाते रहे। तभी उनकी टीम मेंबर मंच पर पहुंचे और कलाकार को उठाने की कोशिश की। लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।

यह भी पढ़ें- कार्यस्थल पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न से संबंधित शिकायतों के लिए समिति गठित

यह मामला बिश्नाह क्षेत्र के गांव कोठे सैनिया का है। गांव में गणेश पूजा में जागरण चल रहा था। जागरण को और भक्तिमय बनाने के लिए वहां पर आए कलाकारों ने कई देवी देवताओं की प्रस्तुतियां दीं। इसी दौरान मंच पर शिव पार्वती का भी एक किरदार निभाया जाना था, जिसके लिए पहले मां पार्वती अपने नृत्य के माध्यम से भगवान शिव को प्रसन्न करने का प्रयास करती है और इसमें मां पार्वती का किरदार निभाने के लिए 20 वर्षीय योगेश गुप्ता पुत्र कुलदीप गुप्ता निवासी पोर सतवारी नृत्य कर रहे थे।

योगेश मंच पर शिव को प्रसन्न करने के लिए शिव स्तुति पर डांस कर रहे थे। इसी दौरान उन्हें हार्ट अटैक आ गया और वो बेहोश होकर मंच पर गिर गए। ये सब इतना अचानक हुआ कि वहां मौजूद दर्शक इसे प्रस्तुति का हिस्सा मानकर खूब तालियां बजा रहे थे। लेकिन इसमें शिव का किरदार निभा रहे शख्स ने जब देखा कि पार्वती के बेहोश होने का दृश्य पूरी स्क्रिप्ट में कहीं नहीं है तो वो शिव की वेशभूषा में ही मंच पर पहुंचे और मां पार्वती का किरदार निभा रहे योगेश गुप्ता को उठाने का प्रयास करने लगे।

यह भी पढ़ें- केंद्र सरकार ने NSCN(K) निकी समूह के साथ संघर्ष विराम बढ़ाया

वहां मौजूद लोग तब भी नहीं समझे तब शिव जी का किरदार निभा रहे युवक ने खुद ही डीजे को बंद करने की अपील आयोजकों से की। उन्होंने आयोजको को बताया कि यह कोई अभिनय नहीं है इन्हें हार्ट अटैक आया है। तब कहीं जाकर उन्हें समझ में आया लेकिन तब तक योगेश गुप्ता दम तोड़ चुका थे। यह देखकर हर कोई हैरान था कि आखिर इतना स्वस्थ कलाकार जो अभी हंसते गाते नाचते हुए एक आनंददायक प्रस्तुति दे रहा था वह इस दुनिया से जा चुका था और वहां मौजूद सैकड़ों लोगों को इसकी भनक तक नहीं थी।