जम्मू-कश्मीर के बडगाम जिले के चदूरा इलाके में आतंकवादियों ने गुरुवार को कश्मीरी पंडित समुदाय से संबंध रखने वाले एक सरकारी कर्मचारी की उसके कार्यालय में गोली मारकर हत्या कर दी. आज उनका जम्मू में अंतिम संस्कार किया गया. उनकी हत्या को लेकर जम्मू कश्मीर के कई हिस्सों में प्रदर्शन हो रहे हैं. 

यह भी पढ़े : इन राशियों पर नहीं होता शनि की साढ़ेसाती या ढैया कोई प्रभाव, इन पर मेहरबान रहते हैं शनि देव


राहुल के पिता ने बताया कि घटना से ठीक आठ दिन पहले राहुल अपने चाचा को देखने घर आए थे. लेकिन गुरुवार को अचानक उन्हें किसी काम के लिए वापस बुला लिया गया. कश्मीर में कश्मीरी पंडितो को टारगेट किया जा रहा है, इस सवाल पर नम आंखों के साथ राहुल के पिता ने कहा कि आतंकी ने मारने से पहले मेरे बेटे के नाम की पुष्टि की थी. इससे ज्यादा क्या ही कह सकते हैं. उस वक्त वहां चार लोग मौजूद थे लेकिन नाम के कारण ही मेरे बेटे को मार दिया गया. 

यह भी पढ़े : घाटी में कश्मीरी पंडितों पर बढ़ा हत्याचार :  राहुल भट की हत्या से गुस्से में कश्मीरी पंडित, विरोध प्रदर्शन


पिता बिट्टाजी भट्ट ने कहा कि राहुल साल 2010 से नौकरी कर रहा था. इस बीच दो तीन जगह उनकी पोस्टिंग भी हुई लेकिन कभी किसी तरह का वाद विवाद सुनने को नहीं मिला. उन्होंने बताया कि लोग राहुल को पसंद करते थे. उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि मेरे बेटे को न्याय मिलेगा. मृतक के परिवार ने कहा कि जबत क राहुल को गोली मारनेवाले आतंकी को फांसी नहीं हो जाती या वो सुरक्षाबलों की गोली से नहीं मारे जाते तब तक मन को तसल्ली नहीं होगी. 

यह भी पढ़े  : ज्ञानवापी मस्जिद फैसला : असदुद्दीन ओवैसी बोले, 'पूजा स्थल अधिनियम 1991' का खुला उल्लंघन


दरअसल गुरुवार को दो बंदूकधारी चदूरा इलाके में स्थित तहसील कार्यालय में दाखिल हुए और लिपिक राहुल भट को गोली मार दी. मृतक भट की तैनाती प्रवासियों के लिए शुरू विशेष रोजगार पैकेज के तहत की गई थी. अधिकारियों ने बताया कि भट बडगाम के शेखपुरा स्थित प्रवासी कॉलोनी में रहते थे. उन्होंने बताया कि गोली मारे जाने के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी मौत हो गई.

इस मामले पर कश्मीर जोन की पुलिस ने ट्वीट किया करते हुए कहा कि घायल को तत्काल श्रीनगर के एसएमएचएस अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी मौत हो गई. शुरुआती जांच के अनुसार इस जघन्य अपराध में दो आतंकवादी संलिप्त हैं और उन्होंने अपराध को अंजाम देने के लिए पिस्तौल का इस्तेमाल किया है. उन्होंने बताया कि आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने तलाशी अभियान शुरू किया है.