पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। वह भारत पर दोहरी चोट करने की साजिश रच रहा है। एक ओर आतंक को पनपा रहा है तो दूसरी ओर देश के युवाओं को नशे के अंधकार में धकेल रहा है। हालांकि भारत की चौकस सुरक्षा एजेंसियों ने अब इस साजिश का पर्दाफाश कर दिया है। घाटी में पुलिस ने नारको टेररिज्म मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए नशा तस्करों के दो रैकेट के छह लोगों को गिरफ्तार किया है। 

श्रीनगर पुलिस ने बताया कि टंकीपोरा के फैय्याज अहमद नादफ के घर पर छापामारी की गई। इस दौरान तीन किलो हेरोइन बरामद की गई। गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में उसने बताया कि पंजाब के हैंडलर टोपी सिंह के कहने पर यह खेप उत्तरी कश्मीर के एक युवक को सौंपी जानी थी। कुछ हेरोइन पंजाब भेजी जानी थी। शेष श्रीनगर के युवाओं के बीच वितरित की जानी थी। वहीं, बारामुला जिले में उड़ी पुलिस ने दाची से हेरोइन के दो पैकेट के साथ दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान इरफान अहमद मीर और इरशाद अहमद के रूप में हुई है। इनके साथियों को भी गिरफ्तार किया गया है।

ऐसे हुआ साजिश का खुलासा

गौरतलब है कि भारत में नोटबंदी के बाद से आतंक के आकाओं के फंड भी तबाह हो गए हैं। ऐसे में देश में आतंक को बढ़ावा देने के लिए पड़ोसी देश की कुख्यात जासूसी एजेंसी आईएसआई ने नारको टेररिज्म का सहारा लिया है। आईएसआई की साजिश है कि भारत में आतंक फैलाने के साथ ही यहां के युवाओं को नशे की ओर धकेला जाए। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इसी माह इस साजिश का भंडाफोड़ कर कश्मीर के तीन और खालिस्तान समर्थक दो आतंकियों को दबोचा है। जिनसे पूछताछ में खुलासा हुआ कि ड्रग्स से पैसा जुटाने का खेल पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से चल रहा है। यह पैसा देश में आतंक को बढ़ावा देने में इस्तेमाल किया जाना था। नशा अफगानिस्तान में तैयार किया जाता है। वहां से इसे पाकिस्तान और फिर पीओके लाया जाता है। फिर कश्मीर के रास्ते पंजाब और देश के दूसरे इलाकों में भेजा जा रहा है।

साढ़े चार माह में एक हजार करोड़ से ज्यादा का नशा पकड़ा

देश में फैल रहे नारको टेरेरिज्म का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि देश की अलग-अलग एजेंसियों ने साढ़े चार माह के दौरान ही एक हजार करोड़ से भी अधिक की हेरोइन जब्त की है। तीन बार की कार्रवाई में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने 160 किलो हरोइन पकड़ी। इसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 750 करोड़ से ज्यादा बताई गई है। इस साल दिल्ली पुलिस ने भी 340 करोड़ कीमत की हेरोइन पकड़ी। दिल्ली से इस साल 844 नशा तस्करों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने 695 मामले भी दर्ज किए हैं।