राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस मामलों में जारी तेज बढ़ोतरी के बीच जामा मस्जिद की ओर से बड़ी जानकारी सामने गई है। अपने घरों में नमाज अदा करने की अपील के एक दिन बाद ही जामा मस्जिद के शाही इमाम  सैयद अहमद बुखारी मस्जिद 30 जून तक बंद रहेगी। यह बड़ा फैसला दो महीने से अधिक समय बाद बीते 8 जून को ऐतिहासिक मस्जिद को खोलने के तीन दिन बाद लिया गया है।

मीडिया से बातचीत में बुखारी ने कहा, मैंने लोगों से अपने घरों में नमाज अदा करने की अपील की थी। लोगों की राय लेने और मौलानाओं से सलाह लेने के बाद यह फैसला लिया गया है कि गुरुवार के मगरेब (सूर्यास्त) से 30 जून तक जामा मस्जिद में कोई भी सामूहिक नमाज अदा नहीं की जाएगी। केंद्र सरकार के 'अनलॉक 1' के हिस्से के रूप में पहले चरण में दी गई ढील के बाद बीते 8 जून से देश भर में शॉपिंग मॉल और कार्यालयों जैसे कई प्रतिष्ठानों को खोलने की छूट दे दी गई थी। जबकि बुखारी ने कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ने के मद्देनजर सरकार से इस फैसले पर पुनर्विचार करने की अपील की थी।

गौरतलब है कि बुखारी के सचिव अमानतुल्लाह का मंगलवार रात सफदरजंग अस्पताल में कोरोना वायरस के कारण निधन हो गया था। दिल्ली में गुरुवार तक कोरोना वायरस के कुल 32,810 केस सामने आ चुके हैं। इनमें 19,581 एक्टिव केस हैं, जबकि 12,245 मरीज रिकवर-डिस्चार्ज कर दिए गए हैं। वहीं, राजधानी में अब तक यह महामारी 984 लोगों की जान ले चुकी है।