दिल्ली के जहांगीरपुरी में हुई हिंसा के बाद अब अमन और शांति के लिए कोशिशें की जा रही हैं. जहांगीरपुरी में आपसी भाईचारे को बढ़ाने के लिए आज इफ्तार पार्टी का आयोजन होने जा रहा है. रविवार को कंधे से कंधा मिलाकर लोगों ने तिरंगा यात्रा निकाली थी और भारत माता के जयकारे लगाए. यात्रा निकालकर लोगों ने आपसी भाइचारे का संदेश दिया. छोटे-छोटे बच्चों के हाथों में तिरंगा दिखाई दिया. 

यह भी पढ़े : Aaj ka rashifal 25 अप्रैल: इन राशि वालों की आर्थिक स्थिति में आएगा सुधार , कन्या राशि वालों के लिए आज दिन अच्छा 


बच्चों से लेकर बड़ों के चेहरे पर मुस्कुराहट नजर आई. आपसी सौहार्द और एकता को बढ़ावा देने के लिए अब जहांगीरपुरी के लोगों ने एक और कदम आगे बढ़ाया है. आज जहांगीरपुरी में इफ्तार पार्टी का आयोजन होने वाला है. इलाके में पैदा हुए तनाव को खत्म करने और जिंदगी को पटरी पर लाने के लिए दोनों समुदाय के लोग पहल करते नजर आ रहे हैं.

यह भी पढ़े : लव राशिफल 25 अप्रैल: इन राशि वालों की लव लाइफ में होंगे बड़े बदलाव, अपने पार्टनर से खुलकर और ईमानदारी से बात करें


जहांगीरपुरी में तिरंगा यात्रा के बाद इफ्तार पार्टी

16 अप्रैल को हुई सांप्रदायिक हिंसा के बाद हिंदुओं और मुसलमानों ने शांति और सौहार्द का संदेश देते हुए रविवार को जहांगीरपुरी सी-ब्लॉक में दिल्ली पुलिस की मदद से ‘तिरंगा यात्रा’ निकाली. यात्रा में दोनों समुदायों के करीब 50 लोगों को शामिल होने की अनुमति दी गई थी. सी-ब्लॉक के कई निवासी सड़कों के किनारे खड़े रहे, जबकि अन्य ने अपनी खिड़कियों और बालकनी से रैली देखी. 

दर्शकों ने भी तिरंगा लहराया और रैली में शामिल लोगों पर पुष्पवर्षा की. उत्तरी-पश्चिमी दिल्ली की पुलिस उपायुक्त ऊषा रंगनानी ने कहा, ‘‘इस रैली ने सौहार्द और शांति का संदेश दिया. दोनों समुदायों के सदस्यों ने दिखाया कि तिरंगा सर्वोच्च प्राथमिकता है. उन्होंने संदेश दिया है कि देश सबसे पहले आता है.

यह भी पढ़े : VASTU TIPS: घर में आईना लगवाते समय उसकी दिशा का विशेष ख्याल रखें, इस दिशा में लगाने से बचें


जहांगीरपुरी हिंसा मामले की जांच जारी

वहीं दूसरी ओर दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच जहांगीरपुरी हिंसा मामले की जांच कर रही है और आरोपियों की तलाश में छापेमारी भी की जा रही है. हिंसा मामले में 5 आरोपियों पर NSA भी लगाया गया है और अब इनकी पुलिस हिरासत 1 मई तक बढ़ा दी गई है. साथ ही मुख्य आरोपी अंसार पर भी पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है. मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज हो चुका है. तो पिछले दो महीनों की कॉल डिटेल्स भी खंगाली जा रही है, ताकि इस हिंसा के पीछे शामिल साजिशकर्ताओं का पता लगाया जा सके.