आइटीबीपी (इंडो-तिब्बत बार्डर पुलिस) की 11 वीं वाहिनी ने भारत-चीन सीमावर्ती क्षेत्र छातन में एक दिवसीय चिकित्सा शिविर का आयोजन किया। उत्तरी सिक्किम चुंगथाग के पैगाग में आयोजित  कार्यक्रम में स्थानीय लोगों तथा विद्यार्थियों ने चिकित्सा जाच एवं उपचार की जानकारी ली।


शिविर के दौरान आइटीबीपी की ओर से आवश्यक दवाइया भी वितरित की गई। इस शिविर का शुभारंभ वाहिनी के सेनानायक राजेश कुमार तोमर ने इस तरह के शिविर अन्य सीमावर्ती क्षेत्र थागु, बनसोई व चुंगथाग में भी आयोजित करने की जानकारी दी। इस तरह के कार्य से स्थानीय लोगों और आइटीबीपी के बीच अच्छे संबंध स्थापित होंगे।

तोमर के अनुसार सीमावर्ती क्षेत्र में मदद के लिए अन्य सेवाएं व आपदा में राहत कार्य के लिए आइटीबीपी के अलावा कोई विकल्प नहीं है। उन्होंने सीमा रक्षा के साथ लोगों की मदद के लिए आइटीबीपी के सदैव तत्पर खड़े रहने का दावा किया। शिविर आयोजित करने के लिए सभी विद्यालय के प्रधानाचार्य व गाव के प्रधानों ने आइटीबीपी के प्रति आभार व्यक्त किया।