इजरायली प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट के परिवार को इस सप्ताह दूसरी बार एक मेल में जान से मारने की धमकी वाला पत्र मिला है। पुलिस ने एक बयान में कहा कि इस सिलसिले में एक जांच शुरू की गई है और उनकी ‘लाहव 433’ विशेष इकाई और आंतरिक सुरक्षा सेवा शिन बेट मामले पर मिलकर काम कर रही हैं।

ये भी पढ़ेंः भारत ने चीन की बड़ी चाल को किया नाकाम, विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर ने कर दिया इतना बड़ा काम


इजराइली राज्य के स्वामित्व वाली कान टीवी समाचार ने बताया कि पत्र बेनेट के 17 वर्षीय बेटे योनी को संबोधित करके भेजा गया था। पुलिस ने यह नहीं बताया कि क्या किसी संदिग्ध को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने कहा कि पहला पत्र और गोली मंगलवार को प्रधानमंत्री की पत्नी गिलट के कार्यस्थल पर भेजी गई थी, जिसमें उनके और योनी बेनेट के खिलाफ धमकी शामिल थी।

ये भी पढ़ेंः अयोध्या में दंगा भड़काने की कोशिश विफल, मस्जिदों के बाहर मांस और आपत्तिजनक पर्चे फेंकने वाले हिंदू युवक थे


पहली घटना के बाद, शिन बेट ने कहा कि बेनेट और उनके परिवार के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है।इजरायल के राष्ट्रपति ने कहा कि यह खतरा देश में गर्मागर्म राजनीतिक चर्चा का हिस्सा है। बेनेट ने ट्वीट कर कहा, राजनीतिक संघर्ष, चाहे कितना भी गहरा हो, हिंसा, ठगी और मौत की धमकियों तक नहीं पहुंचना चाहिए। हमें राजनीतिक डिस्कोर्स की आग को कम करना चाहिए। कान टीवी के अनुसार, यह पहली बार नहीं है जब बेनेट और सत्तारूढ़ गठबंधन के अन्य नेताओं को मौत की धमकी मिली है।