इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि गाजा पट्टी पर घातक बमबारी अंतरराष्ट्रीय आक्रोश और संघर्ष विराम को रोकने के प्रयासों के बावजूद जारी रहेगी। नेतन्याहू ने कहा कि इजरायली हवाई हमले ‘पूरी तरह से’ जारी रहेंगे और ये ‘लंबे समय’ तक चलेंगे। उन्होंने कहा कि उनका देश गाजा के हमास शासकों से ‘एक बड़ी कीमत वसूलना चाहता है’। बता दें कि बीते एक सप्ताह में हमास ने 3000 रॉकेट दागे हैं। 

वहीं इजराइल द्वारा गाजा सिटी पर किए गए हवाई हमलों में कई इमारत नष्ट हो गईं और कम से कम 42 लोग मारे गए। इजराइल और हमास के बीच एक सप्ताह पहले शुरू हुए संघर्ष के बाद यह सबसे भीषण हमला था। गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि हमले में मारे गए लोगों में 16 महिलाएं और 10 बच्चे भी शामिल हैं, जबकि 50 से अधिक लोग घायल हुए हैं। मंत्रालय ने बताया कि राहत एवं बचाव कार्य अब भी जारी है।

इससे पहले इजराइली सेना ने कहा कि उसने दक्षिणी शहर खान यूनिस में अलग हवाई हमले में गाजा के शीर्ष हमास नेता याहिया सिनवार के आवास को जमींदोज कर दिया। हमास के वरिष्ठ नेताओं के घरों पर पिछले दो दिनों में यह तीसरा हमला है। वहीं, हमले के मद्देनजर हमास के कई नेता भूमिगत हो गए हैं। इजराइल ने हमास को ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुंचाने के लिए हालिया दिनों में हमले तेज कर दिए हैं। वहीं, अंतरराष्ट्रीय वार्ताकार भी दोनों पक्षों के बीच मध्यस्थता का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन हमास के नेताओं को निशाना बनाए जाने से इन प्रयासों में मुश्किलें आ सकती हैं। पूर्वी यरुशलम में इस महीने की शुरुआत में तनाव तब शुरू हुआ जब फलस्तीनियों ने शेख जर्रा में उन्हें निकाले जाने के खिलाफ प्रदर्शन किया और इजराइली पुलिस ने अल-अक्सा मस्जिद में कार्रवाई की। यह लड़ाई पिछले सोमवार को शुरू हुई जब यरुशलम को बचाने का दावा करने वाले हमास ने लंबी दूरी के रॉकेट दागे।