पाकिस्तान में अब असली राजनीतिक घमासान मचने वाला है। क्योंकि पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने समर्थकों को 'सच्ची आजादी' के लिए मार्च की तैयारी करने का निर्देश है। उन्होंने शाहबाज शरीफ के नेतृत्व वाली नयी सरकार के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी इस्लामाबाद की ओर जल्द ही एक विरोध मार्च शुरू करने की धमकी दी है।

यह भी पढ़ें : अरुणाचल प्रदेश के अंकल मूसा को मिलेगा 25वां महावीर पुरस्कार

गौरतलब है कि इमरान को इस महीने की शुरुआत में अविश्वास प्रस्ताव के जरिए से पाकिस्तान की सत्ता से बाहर कर दिया गया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि स्वतंत्र विदेश नीति का पालन करने की वजह से उनकी सरकार को गिराने के लिए अमेरिका द्वारा साजिश रची गई थी। अमेरिका (US) कई बार उनके इस दावे को खारिज कर चुका है।

सत्ता खोने के बाद से खान ने पेशावर, कराची और लाहौर में तीन बड़ी रैलियों को संबोधित किया है तथा नयी सरकार के खिलाफ एक लंबा मार्च निकालने और उसे मध्यावधि चुनावों की घोषणा करने के लिए मजबूर करने की योजना बना रहे हैं। पद से हटाए जाने के बाद से अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में खान ने कहा कि वह मार्च की तारीख की घोषणा बाद में करेंगे, लेकिन उन्होंने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं और समर्थकों को 'सच्ची आजादी' की तैयारी शुरू करने का निर्देश दिया।

यह भी पढ़ें : गर्मियों में है सिक्किम में सुकून, दोस्तों के साथ प्लान कर सकते हैं ट्रिप

उन्होंने कहा कि लोगों का एक विशाल सैलाब संघीय राजधानी की ओर जाएगा। खान ने अपने बनिगला आवास पर संवाददाताओं से कहा, ‘हमारे साथ किए गए मजाक और जिस तरह के लोगों को हम पर (शासकों के रूप में) थोपा गया है, लोग उसे समझ गए हैं।’ उन्होंने आरोप लगाया कि अभूतपूर्व संख्या में ‘अपराधी’ और जो जमानत पर बाहर थे, वे सभी अब नई सरकार के मंत्रिमंडल का खास हिस्सा हैं।