अफगानिस्तान में तालिबान का कब्जा होने के बाद अब आईएसआईएस (ISIS) और ज्यादा क्रूर हो चुका है। आईएसआईएस-के (ISIS-K) ने शिया समुदाय को टारगेट कर धमाके करने के साथ ही इस समुदाय के कत्लेआम की चुनौती दी है। उसने कहा है कि शिया मुसलमान जहां भी होंगे, उन्हें ढूंढकर मारा जाएगा। इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (आईएसआईएस) या दाएश ने अपने बयान में कहा है कि शिया मुसलमान खतरनाक हैं और उन्हें हर जगह निशाना बनाया जाएगा।


यह भी पढ़ें—  आटे के लोए में थूककर बनाई तंदूरी रोटी, वीडियो वायरल, आरोपी का नाम जानकर चौंक जाएंगे


आतंकी समूह (ISIS-K) के साप्ताहिक अल-नबा ने यह चेतावनी प्रकाशित की है। खामा प्रेस ने कहा है कि शिया मुसलमानों के घरों और केंद्रों को निशाना बनाया जाएगा। इसके बाद अब खास तौर पर अफगानिस्तान में रहने वाले शिया मुसलमानों को खतरा है।

आईएसआईएस (ISIS-K) ने कहा कि बगदाद से खोरासान तक हर जगह शिया मुसलमानों को निशाना बनाया जाएगा। खामा प्रेस के अनुसार, तालिबान द्वारा देश पर नियंत्रण करने के बाद से आईएसआईएस-खुरासान अब अफगानिस्तान में शांति के लिए सबसे बड़ा खतरा बना हुआ है।