इराक की अदालत ने जनवरी 2020 में पैरामिलिट्री हशद शाबी बल के कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस के उप प्रमुख की हत्या पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है। गौरतलब है कि 3 जनवरी, 2020 को बगदाद अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास एक काफिले पर अमेरिकी ड्रोन से हमला किया गया था, जिसमें अल-मुहांदिस की मौत हो गई थी, साथ ही ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशन गाड्र्स कॉप्र्स के कुद्स फोर्स के कमांडर कासम सोलेमानी की भी मौत हो गई थी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने इराकी सर्वोच्च न्यायिक परिषद के बयान के हवाले से कहा, बगदाद के अल-रसफा कोर्ट में एक जज ने इराक के पैरामिलिट्री हशद शाबी बल के उप प्रमुख अबू महदी अल-मुहांदिस की हत्या के मामले की जांच के आरोप में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। बयान में कहा गया है कि, न्यायाधीश ने अल-मुहांदिस के परिवार के सदस्यों की शिकायतों और प्रारंभिक जांच प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद वारंट जारी किया।

बयान में आगे कहा गया, इस अपराध में शामिल अन्य दोषियों, भले गी वे इराकी हों या विदेशी, उनका पता लगाने के लिए जांच प्रक्रिया जारी है। हशद शाबी या पॉपुलर मोबिलाइजेशन फोर्सेस (पीएमएफ) एक शिया अर्धसैनिक बल है, जो ईरान के साथ घनिष्ठ संबंध रखता है। इसे 2016 के इराकी कानून के तहत एक स्वतंत्र सैन्य बल के रूप में मान्यता दी गई थी, जो सीधे प्रधानमंत्री के प्रति जवाबदेह है। ईरानी राज्य मीडिया ने सोमवार को रिपोर्ट दी थी कि तेहरान ने भी सोलीमनी की मौत पर ट्रंप के लिए गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। तेहरान के अटॉर्नी जनरल अली अलकासी मेहर ने दावा किया कि ट्रंप का कार्यकाल समाप्त होने के बाद उन पर मुकदमा चलाया जाएगा।