दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 (IPL 2022) के लिए ऋषभ पंत (Rishabh Pant), पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw), अक्षर पटेल (Axar Patel) और एनरिक नोत्र्जे की चौकड़ी को रिटेन करने का फैसला किया है। हालांकि गुरुवार को टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले कैपिटल्स के पूर्व कप्तान श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने नीलामी में जाने का फैसला किया है। कैपिटल्स अय्यर के इस निर्णय को एक झटके के रूप में देख सकते है, वे पूरी तरह से हैरान नहीं होंगे।

अप्रैल में कंधे की चोट के कारण अय्यर (Shreyas Iyer) के आईपीएल के पहले चरण से बाहर होने के बाद कैपिटल्स ने पंत को कप्तानी सौंपी थी और तब से उनके सामने सवाल था कि क्या वह अय्यर को रिटेन कर पाएंगे। 2018 आईपीएल के बीच में कप्तान गौतम गंभीर द्वारा पद छोड़ने के बाद से अय्यर ने टीम का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया। साल 2012 के बाद से पहली बार 2019 में कैपिटल्स (Delhi Capitals) ने प्लेऑफ में जगह बनाई और वह दूसरे क्वालीफायर में हार गए। एक साल बाद वे अपने पहले आईपीएल फाइनल में पहुंचे जहां मुंबई इंडियंस ने उन्हें हराया। 

इस साल मार्च में, इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू वनडे सीरीज के दौरान, अय्यर (Shreyas Iyer) को कंधे पर चोट लगी जिसके बाद उन्हें सर्जरी से गुजरना पड़ा। इसके चलते कैपिटल्स ने उस समय एक अंतरिम कप्तान के रूप में पंत (Rishabh Pant) को नियुक्त किया। हालांकि अय्यर ने अक्तूबर-नवंबर में यूएई में खेले गए आईपीएल के दूसरे चरण के लिए वापसी की, लेकिन पंत को कप्तान के रूप में बरकरार रखा गया। अय्यर दो नई टीमों द्वारा खरीदे जा सकते हैं लेकिन पता चला है कि उन्होंने ऑक्शन में जाने का फैसला किया है जहां आठ मौजूदा टीमों में से अधिकतर एक कप्तान की तलाश में होंगी। 

यह समझा जा रहा है कि कैपिटल्स की सूची में पहला नाम पंत का था और अय्यर के खुद बाहर होने से शॉ ने उनकी जगह ले ली। भारत की 2018 अंडर -19 विश्व कप जीत के दौरान सुर्खियां बटोरने वाले शॉ को उसी वर्ष नीलामी में 1.2 करोड़ रुपये में खरीदा गया था। 20 वर्षीय शॉ (Prithvi Shaw) को विश्व स्तर पर खेल के सबसे खतरनाक सलामी बल्लेबाजों में से एक माना जाता है। कैपिटल्स में उन्होंने रिकी पोंटिंग और प्रवीण आमरे (Ricky Ponting and Praveen Amre) की कोचिंग जोड़ी के तहत अपने विकास को स्वीकार किया है, इसलिए फ्रेंचाइजी को विचार-विमर्श करने के लिए ज्यादा जरुरत नहीं थी। 

इसके विपरीत नोत्र्जे और अक्षर का चुनाव इतना आसान निर्णय नहीं था। 2020 में कैपिटल्स के साथ जुड़े नोत्र्जे के सामने थे कैगिसो रबादा। संयोग से जबकि नोत्र्जे ने भारत में कभी भी आईपीएल नहीं खेला है, यूएई में उनके आंकड़ें अत्यधिक प्रभावशाली हैं। आईपीएल में उनके 34 विकेटों में से 12 पावरप्ले में आए, जो उनके पदार्पण के बाद से उस चरण में किसी भी गेंदबाज द्वारा तीसरे सबसे अधिके हैं। 2018 में कैपिटल्स का हिस्सा बने रबादा के 45 में से 22 विकेट अंतिम ओवरों में आए जहां उनकी इकॉनमी 9.44 की थी। वहीं 7.82 की नोत्र्जे की इकॉनमी पिछले दो सीजन में इस दौरान 100 से अधिक गेंदें डालने वाले गेंदबाजों में सर्वश्रेष्ठ हैं। उन आंकड़ों से कैपिटल्स के प्रबंधन को यकीन हो गया होगा कि नोत्र्जे एक बेहतर दांव है।