IPL 2021 के दौरान चेन्नई सुपर किंग्स को तगड़ा झटका लगा है क्योंकि उसके दो स्टार खिलाड़ी पंजाब किंग्स के खिलाफ नहीं खेल पाएंगे। तेज गेंदबाज ऑस्ट्रेलिया के जेसन बेहरेनडोर्फ और साउथ अफ्रीका के लुंगी एनगिडी पंजाब किंग्स के खिलाफ होने वाले टीम के अगले मैच के लिए उपलब्ध नहीं होंगे। सीएसके के हेड कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने इस बात की पुष्टि की है। जोश हेजलवुड की जगह टीम में शामिल किए गए बेहरेनडोर्फ अभी तक टीम के साथ नहीं जुड़ पाए हैं वही एनगिडी का सात दिन का क्वारंटीन अभी खत्म नहीं हुआ है।

दिल्ली के खिलाफ हार के बाद हुयी प्रेस कांफ्रेंस में फ्लेमिंग ने बताया, "एनगिडी अगले मैच के लिए उपलब्ध नहीं होंगे। अगले मैच तक वो टीम से नहीं जुड़ पाएंगे। पहले इस दौरान जोश हेजलवुड हमारे प्लान का हिस्सा थे लेकिन उनके टूर्नामेंट से नाम वापिस लेने के बाद हमारे लिए हालत मुश्किल हो गए हैं। उम्मीद है एनगिडी जल्द ही टीम के साथ जुड़ जायेंगे।" उन्होंने कहा, "बेहरेनडोर्फ भी जल्द हमारे साथ जुड़ जायेंगे। फिलहाल हमारा गेंदबाजी आक्रमण थोड़ा कमजोर नजर आता है। लेकिन हमारे पास प्रतिभावान भारतीय गेंदबाजों के साथ साथ सैम कर्रन का विकल्प मौजूद है।"

दिल्ली के हाथों मिली हार पर फ्लेमिंग ने कहा है कि एक हार से इतना फर्क नहीं पड़ता साथ ही उन्होंने अगले मैच में वापसी की बात भी कही। उन्होंने कहा, "हमें अभी यहां चार मैच और खेलने हैं आगे के मैचों में हमें इस अनुभव का फायदा मिलेगा। हम चेन्नई की टीम हैं, हमारी मानसिकता को बदलने में और मजबूत बनने में ज्यादा समय नहीं लगेगा।" साथ ही फ्लेमिंग ने कहा, "मुंबई ने आरसीबी के खिलाफ अपना पहला मुकाबला चेन्नई में खेला था। हमनें देखा था कैसे उसके लिए वहां के हालात के साथ तालमेल बैठाना मुश्किल हो रहा था। चेन्नई के हालात के अनुसार खुद को ढालना जैसे उनके लिए चुनौती है वैसे ही हमें भी वानखेड़े की पिच के अनुसार अपनी गेंदबाजी की रणनीति में बदलाव करना होगा। कोविड-19 के इस दौर में ये हम सभी के लिए सबसे बड़ी चुनौती है।"

सीएसके के कोच ने साथ ही कहा कि सुरेश रैना की वापसी से टीम को मजबूती मिली है। उन्होंने कहा, "उनको दोबारा टीम के लिए खेलते देखना सुखद अनुभव था। 36 गेंद में 54 रन की उनकी पारी बेहतरीन थी। हम चाह रहे थे कि रैना जल्द से जल्द अपनी फॉर्म हासिल कर लें. 2-3 शॉट लगाने के बाद ही उन्होंने अपनी लय हासिल कर ली। शुरुआती झटकों के बाद मुश्किल विकेट पर रैना और मोईन अली ने जिस तरह पारी को सम्भाला ये हमारे लिए सकारात्मक था। हम गेंदबाजी में बहुत ज्यादा मौके नहीं बना सकें जो की हमारे लिए बेहद निराशाजनक था।"