लुसाने (स्विट्जरलैंड)। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) के कार्यकारी बोर्ड (EB) ने रूस-यूक्रेन युद्ध (Russo-Ukraine War) के बीच दुनिया के सभी अंतरराष्ट्रीय खेल संघों और खेल इवेंट आयोजकों से अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में रूसी और बेलारूसी एथलीटों तथा अधिकारियों (Russian and Belarusian athletes and officials) को शामिल न करने की सिफारिश की है। आईओसी के कार्यकारी बोर्ड ने सोमवार को रूसी और बेलारूस सरकार द्वारा युद्ध को समर्थन देने और ओलंपिक युद्ध विराम का उल्लंघन करने से ओलंपिक मूवमेंट के सामने आई दुविधा को लेकर बैठक की, जिसमें यह निष्कर्ष निकला कि यह एक ऐसी दुविधा है जिसे सुलझाया नहीं जा सकता, इसलिए कार्यकारी बोर्ड ने स्थिति पर गंभीरता से विचार करने के बाद कई महत्वपूर्ण फैसले लिए। 

यह भी पढ़ें- Mahashivratri पर जरूर करें चार पहर की पूजा, जानिए मुहूर्त और पूजन विधि

आईओसी ने एक बयान में कहा, 'आईओसी कार्यकारी बोर्ड सभी अंतरराष्ट्रीय खेल संघों और खेल इवेंट आयोजकों से अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में रूसी और बेलारूसी एथलीटों तथा अधिकारियों को शामिल न करने की सिफारिश करता है। संगठनात्मक और कानूनी कारणों से शॉर्ट नोटिस पर ऐसा करना संभव नहीं है, इसलिए हमारा सभी अंतरराष्ट्रीय खेल संघों और दुनिया भर के खेल इवेंट्स के आयोजकों से यह आग्रह है कि वह अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए यह सुनिश्चित करें कि रूस या बेलारूस के किसी भी एथलीट या खेल अधिकारी को प्रतियोगिताओं में आने की अनुमति न दी जाए और अगर कोई भाग लेता भी है तो रूस या बेलारूस के नाम से भाग न ले। रूसी या बेलारूसी नागरिक, चाहे व्यक्तिगत बात हो या टीमों की, उन्हें केवल तटस्थ एथलीटों या तटस्थ टीमों के रूप में ही स्वीकार किया जाना चाहिए। किसी भी प्रतियोगिता में रूस और बेलारूस के किसी भी राष्ट्रीय प्रतीक, रंग, झंडे और राष्ट्रगान को प्रदर्शित नहीं किया जाना चाहिए।' 

यह भी पढ़ें- जीप इंडिया ने लॉन्च की धांसू नई कंपास ट्रेलहॉक एसयूवी, देखने में है दमदार

आईओसी कार्यकारी बोर्ड ने रूस या बेलारूस में किसी भी खेल इवेंट का आयोजन न करने की अपनी पिछली सिफारिश को भी दोहराया है। कार्यकारी बोर्ड ने कहा कि वह एथलीटों, खेल अधिकारियों और विश्वव्यापी ओलंपिक समुदाय के सदस्यों द्वारा शांति के आह्वान का स्वागत और सराहना करता है। आईओसी विशेष रूप से रूसी एथलीटों द्वारा शांति के आह्वान की प्रशंसा करता है। वहीं कार्यकारी बोर्ड ने यूक्रेनी ओलंपिक समुदाय के साथ अपनी पूर्ण एकजुटता दिखाई है। आईओसी ने कहा, 'यूक्रेन हमारे दिलों और विचारों में हैं। हम मानवीय सहायता के लिए अपने प्रयासों को जारी रखने और मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, इसलिए हमने आज एक एकजुटता कोष की स्थापना की है। इस संदर्भ में हम राष्ट्रीय ओलंपिक समितियों (एनओसी) और अंतरराष्ट्रीय खेल संघों के प्रति आभार व्यक्त करते हैं जो पहले से ही यूक्रेनी एथलीटों और उनके परिवारों का समर्थन कर रहे हैं। आईओसी टास्क फोर्स की सहायता से आईओसी कार्यकारी बोर्ड स्थिति की बारीकी से निगरानी करना जारी रखे हुए है। कार्यकारी बोर्ड आगे परिस्थितियों के अनुसार सिफारिश और उपाय करेगा।'