राज्य के करीब आठ लाख चाय श्रमिकों को राज्य सरकार सामाजिक सुरक्षा के तहत प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना तथा प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का लाभ प्रदान करेगी। वहीं उनकी मजदूरी में भी 30 रुपए कि बढ़ोतरी करेगी । 

प्रदेश के श्रम एवं रोजगार तथा चाय जनजाति कल्याण विभाग के राज्य मंत्री पल्लव लोचन दास ने बताया की चाय श्रमिकों की न्यूनतम मजदूरी तय होने तक 30 रुपये कि अंतरिम वृदिध् कर दी गई है । उन्होंने बताया कि न्यूनतम मजदूरी को लेकर एक अाम सहमति  नहीं बन पाई ।  उन्होंने बताया की 30 रुपये बढ़ने के बाद ब्रह्मपुत्र घाटी के मजदूरों को 167 और बराक घाटी के मजदूरों को 145 रुपए के रुप मे मिलेंगे। 

उन्होंने बताया कि चाय श्रमिकों के कल्याण के लिए सरकार पूरी तरह से गंभीर है और मजदूरों कि न्यूनतम मजदूरी जल्द ही तय कर ली जाएगी और उन्हें प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का लाभ दिलवाने के लिए राज्य सरकार खुद वहन करेगी और एेसे श्रमिक जिनका बैंक में खाता नहीं खुला है, उनका खाता सरकार खुलवाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि जिन कंम्पनियों ने मजदूरों की पीएफ राशी नहीं दी है, उन पर सरकार सख्त कदम उठाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री अावास योजना के अन्तर्गत मजदूरों को जल्द ही मकान बनवाकर दिया जाएगा, इसके लिए जमीन का संकट दूर कर लिया गया है। वहीं घरेलू जगहों पर काम करने वाले और परिवहन सेवा में लगे कर्मचारियों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान  करने के लिए सरकार विचार कर रही है ।