बीएसएफ के स्थापना दिवस के अवसर पर सीमा सुरक्षा बल ने चौंकाने वाला बयान दिया है। बल ने कहा कि असम में चल रही एनआरसी अद्यतन प्रक्रिया के दौरान बांग्लादेश से कोई घुसपैठ नहीं हुई है। बता दें कि बीएसएफ गुवाहाटी सीमा के महानिरीक्षक पीयूष मोरदिया ने अपने संबोधन के दौरान इस बात की जानकारी दी है।

बढ़ा दी गई थी गश्त

उन्होंने कहा है कि राष्ट्रीय नागरिक पंजी की अद्यतन प्रक्रिया के दौरान भारत बांग्लादेश सीमा पर गश्त बढ़ा दी गयी थी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हमने सतर्कता बढ़ा दी थी ताकि घुसपैठिये भीतर न आ पाएं और एनआरसी के दौरान घुसपैठ का हमारे पास कोई सबूत न रहे।

ये है घुसपैठ के आंकड़े

बीएसएफ महानिरीक्षक ने बीएसएफ के स्थापना दिवस के अवसर पर कहा कि गुवाहाटी सीमा सेक्टर में सीमा गार्डों ने पिछले 1 साल में 27 बांग्लादेशी नागरिकों और 185 भारतीयों को घुसपैठ की कोशिश में गिरफ्तार किया है। इन घटनाओं में से अधिकतर पशु तस्करी से संबंधित थीं। उन्होंने कहा कि गुवाहाटी सीमा सेक्टर में 12 बांग्लादेशी प्रवासी मजदूरों को गिरफ्तार किया गया और 17,344 पशु बरामद किए गए।


ली है इलेक्ट्रानिक उपकरणों की सहायता

मोरदिया ने यह भी कहा कि बीएसएफ अधिकारियों ने मादक पदार्थों को भी जब्त किया जिसकी कीमत पशुओं के साथ 13 करोड़ है। मोरदिया ने बताया कि बीएसएफ ने भारत बांग्लादेश सीमा पर मानव निगरानी के साथ इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की सहायता से भी निगरानी करने की व्यवस्था की है।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360