रेलवे रिजर्वेशन चार्ट के नियम बदल गए हैं और उन्हें 10 अक्‍टूबर से लागू किया जा रहा है। इसी के साथ ही भारतीय रेलवे त्‍योहारी सीजन की तैयारियों में जुट गया है। रेलवे ने स्‍पेशल ट्रेनों के फेरे को बढ़ा दिया गया है। अब रेलवे ने रिजर्वेशन चार्ट को लेकर भी अहम फैसला लिया है।
भारतीय रेलवे ने 10 अक्टूबर से दूसरा आरक्षण चार्ट तैयार करने के लिए पहले के सिस्टम को बहाल करने का फैसला किया है। आपको यहां बता दें कि कोरोना काल में इस सिस्‍टम को रोक दिया गया था, लेकिन अब एक बार फिर से पुराने सिस्‍टम को लागू कर दिया गया है।
कहने का मतलब ये है कि रेलगाड़ी प्रस्थान करने के निर्धारित समय से 30 मिनट पहले दूसरा रिजर्वेशन चार्ट जारी किया जाएगा। दूसरा चार्ट तैयार होने से पहले ऑनलाइन और पीआरएस टिकट काउंटर दोनों पर टिकट बुकिंग करने की सुविधा उपलब्ध होगी। रेलवे अपना पहला आरक्षण चार्ट ट्रेन खुलने के 4 घंटे पहले जारी करता है।
कोविड काल से पहले लागू निर्देशों के अनुसार, ट्रेन प्रस्थान के निर्धारित समय से कम से कम 4 घंटे पहले पहला रिजर्वेशन चार्ट तैयार किया जाता था। इसके बाद, दूसरे रिजर्वेशन चार्ट तैयार होने तक पीआरएस काउंटरों के साथ-साथ इंटरनेट के माध्यम से पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर उपलब्ध सीटें बुक की जा सकती है।
रेलगाड़ियों के प्रस्थान के निर्धारित समय से 5 मिनट से 30 मिनट पहले के बीच दूसरा रिजर्वेशन चार्ट तैयार किया जाता था। किराया वापसी करने के नियमों के प्रावधानों के अनुसार, इस अवधि के दौरान बुक की गई टिकटों को रद्द करने की भी अनुमति दी गई थी।